मिनिमलिज्म है एक अंग्रेजी का शब्द जो आजकल बहुत ज्यादा लोकप्रिय और चर्चित हो रहा है। इस शब्द को समझने का प्रयत्न करें तो यह एक ऐसी जीवनशैली को दर्शाता है जिसके अंतर्गत व्यक्ति को कम से कम लग्जरी (ना के बराबर), धन-दौलत, भोग-विलास, आदि के साथ जीवन जीने की सलाह दी जाती है।

जीवनशैली
आप यकीन नहीं करेंगे कि ये आजकल इतना ट्रेंडिंग है कि बहुत से लोग इस जीवनशैली को अपनाकर अपना बहुत सा समय और पैसे तो बचा ही रहे हैं साथ ही साथ वह जड़ों को समझने का प्रयास भी करने लगे हैं। वे ये समझने लगे हैं कि जीवन की गुणवत्ता भौतिक चीजों में निहित ना होकर व्यक्ति की मानसिकता और उसके आचरण में समाहित है।

लग्जरी लाइफस्टाइल
आपने कितने ही ऐसे लोग देखे होंगे जिन्होंने अचानक से अपना लग्जरी लाइफस्टाइल छोड़कर सामान्य जीवनयापन करना प्रारंभ कर दिया है। यह जीवन को कम से कम सहूलियतों और लग्जरी के साथ जीने की एक कला ही है। जाहिर तौर पर इस तरह का लाइफस्टाइल मुश्किल तो होता ही है लेकिन शुरुआत तो कहीं से करनी ही होती है।

मिनिमलिज्म
अगर आपको भी ‘मिनिमलिज्म’ की परिभाषा अपनी ओर आकर्षित करती है, लेकिन आप ये समझ नहीं पा रहे हैं कि इसे कैसे अपने जीवन में आमंत्रित किया जाए, तो हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं जिन्हें अपने जीवन में उतारकर आप इस ओर चल सकते हैं।

आसपास की जगह खाली करें
बहुत से लोगों को अपने घर में हर तरह का सामान, डिजायनर टेबल, लैंपशेड्स, महंगे शो पीस आदि रखने का शौक होता है। यह घर की शोभा तो बढ़ाते हैं लेकिन आपके आलीशान जीवन का परिचय भी देते हैं। परंतु आप को तो इससे ठीक उलट जीवन जीना है, इसलिए सबसे पहले इन सभी सामानों, को जिनके बिना भी जीवन चल सकता है, को अपने घर से बाहर करना चाहिए।

सादा भोजन
महंगा भोजन, फाइव स्टार होटल में डिनर….ये सब आपके लिए बाधा का काम कर सकते हैं। सादा जीवन उच्च विचार…. इस सोच को अपने जीवन में लागू कीजिए और ऐसे भोजन को ग्रहण करें जो आपके मस्तिष्क और मन को स्वच्छता के साथ-साथ शांति भी पहुंचाए।

स्वयं की साज सज्जा
अगर आप अन्य लोगों की तुलना अच्छा दिखने पर ज्यादा खर्च करते हैं, महंगे कपड़ों और महंगे कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स के शौकीन हैं तो सबसे पहले आपको अपनी इस आदत को छोड़ना होगा। जब आप भीतर से अच्छा सोचना और अच्छा महसूस करना शुरू कर देंगे तो समझ लीजिए आपकी वह खूबसूरती बाहर भी नजर आएगी और यही आपकी वास्तविक सुंदरता भी है।

भड़कीले रंग को कहें ना
सादे रंग आपकी सादगी को और बढ़ा देते हैं, वे आपको एक ऐसी खूबसूरती देते हैं जो भड़कीले रंग कभी नहीं दे पाते। आपको अपने घर की सजावट, अपने आसपास का माहुल सादे रंगों से ही रंगीन रखना चाहिए।

प्रकृति के साथ रिश्ता बनाएं
प्रकृति आपके व्यक्तित्व को एक नया आयाम देने और जीवन की गुणवत्ता को समझाने में बहुत उपयोगी है। अगर आप किसी प्राकृतिक स्थान पर जाकर रह नहीं सकते तो अपने घर का माहौल ही प्राकृतिक बनाकर देखिए। आपको एसी, हीटर आदि जैसी चीजों को अलविदा कहना चाहिए ताकि आप प्राकृतिक धूप, प्राकृतिक हवा और मौसम का लुत्फ उठा पाएं।

(रजनी साहनी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here