Black Seed Benefits: कोरोना किलर है कलौंजी, फेफड़ों के संक्रमण को रोकती है – रिसर्च

0
88

Black Seeds यानी कलौंजी से कोरोना वायरस का खात्मा किया जा सकता है.ऑस्ट्रेलिया (Australia) के वैज्ञानिकों ने एक नई रिसर्च में दावा किया है कि कलौंजी कोरोनावायरस (Coronavirus)को फेफड़ों (Lungs) तक पहुंचने से रोक सकती है. रिसर्च के मुताबिक कलौंजी में थाइमोक्विनोन नाम का तत्व पाया जाता है जो कोरोनावायरस के स्पाइक प्रोटीन से चिपक कर उसे फेफड़ों तक नहीं पहुंचने देता.

आपके किचन में मौजूद कलौंजी का इस्तेमाल वैसे तो मसाले के रूप में किया जाता है. लेकिन कलौंजी का इस्तेमाल हजारों सालों से घरेलू नुस्खे के तौर पर किया जा रहा है. इसे वजन कम करने से लेकर डायबीटिज़ कंट्रोल करने तक में कारगर पाया गया है. इतना ही नहीं कलौंजी की बीजों से सर्दी-जुकाम में भी फायदा देखा गया है. ऐसे में सिडनी यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी की ये नई रिसर्च कलौंजी के नए गुणों से सबको वाकिफ़ करा रही है.

दरअसल, सिडनी यूनिवर्सिटी की रिसर्च टीम के मुताबिक कोरोना संक्रमण होने की वजह से मरीजों का इम्यून सिस्टम बिगड़ने लगता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता इस कदर प्रभावित हो जाती है कि रोगों से बचाने वाला इम्यून सिस्टम ही शरीर को नुकसान पहुंचाने लगता है. इसको सायटोकाइन स्टॉर्म कहते हैं. रिसर्च के मुताबिक कलौंजी इसी सायटोकाइन स्टॉर्म को रोकने की कोशिश करती है.

इतनी ही नहीं, कलौंजी साथ ही शरीर में सूजन भी कम करती है. कलौंजी में मौजूद थाइमोक्विनोन तत्व के कारण अस्थमा, एक्जिमा, आर्थराइटिस के इलाज में फायदा देखा गया है. सिडनी यूनिवर्सिटी के रिसर्चर डेनिस कॉर्डेटो का कहना है कि कलौंजी में मौजूद थाइमोक्विनोन के कारण सूजन और संक्रमण से जुड़ी बीमारियों इलाज किया जा सकता है. यह इंफ्लुएंजा जैसे वायरस को खत्म करने में मदद करता है.

एक रिसर्च के मुताबिक, यह ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद कर सकती है. तो वहीं एक्सपर्ट का मानना है कि कलौंजी के बीजों से कोलेस्ट्रॉल घटाया जा सकता है. दरअसल कलौंजी में भरपूर एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कि शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं. ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने ताज़ा रिसर्च में दावा किया है भविष्य में कलौंजी का इस्तेमाल कोरोना के इलाज के लिए भी किया जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here