कांग्रेस के अदने कर्मचारी के घर पड़ी आयकर की रेड और भागते हुए वहाँ पहुँचे अहमद पटेल

    सिर्फ रसूख दिखा कर अपने कर्मचारी के घर आयकर की रेड रुकवाने गये थे अहमद पटेल या डर था उनको किसी गड़बड़झाले के खुल जाने का?

    0
    670

    आज शाम दिल्ली में कांग्रेस पार्टी के दफ्तर में काम करने वाले एसएम मोईन के घर आयकर का छपा पड़ा तो सोनिया के सलाहकार और कांग्रेस के कद्दावर नेता अहमद पटेल भागते हुए वहां पहुंचे और उन्होंने सफाई ये दी कि वे जानकारी चाहते हैं कि यहां किस बात की रेड हो रही है.

    ध्यान देने वाली बात ये है कि अहमद पटेल कांग्रेस के कोषाध्यक्ष हैं अर्थात पार्टी के पैसे से जुड़ी ज़िम्मेदारियाँ और हिसाब-किताब अहमद पटेल के हाथों में ही है. इसलिए अपने दफ्तर के एक अड़ने से कर्मचारी के घर पर पड़ने वाली इनकम टैक्स की रेड पर उनका वहां पहुँच जाना शक पैदा करता है.

    शक तो इस बात से भी पैदा होता है कि एसएम मोईन के घर पर आयकर का छापा पड़ा है तो इस पर ज़रूर विभाग को कोई टिप प्राप्त हुई होगी जो कांग्रेस दफ्तर में काम करने वाले कर्मचारी या उसके दफ्तर को संदेह के घेरे में लेती है.

    इस रेड के दो ही मतलब हो सकते हैं : एक तो मोईन की खुद की बड़ी काली कमाई आयकर की नज़र में आ गई है. दूसरा मतलब ये हो सकता है कि मोईन से जुड़े लोगों की बड़ी काली कमाई इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से छुपाई नहीं जा सकी है जो मोईन के घर छुपाई गई थी.

    बीस करोड़ मोईन की कमाई तो हो नहीं सकती. साफ ज़ाहिर है कि एक अदने कर्मचारी के पास इतना पैसा उसके करीबियों से आया है.

    इस छापेमारी से जो जानकारी मिली है वो ये है कि मोईन के घर से जो बीस करोड़ रुपये पकडे गए हैं वे भोपाल से दिल्ली भेजे गये थे. ये भी बताया जा रहा है कि ये पैसा हवाला का काला पैसा है.

    छापे के दौरान प्राप्त जानकारी के अनुसार आनन फानन में मोईन के घर पहुंचे अहमद पटेल ने आईटी की रेड को रोकने की कोशिश की. इस छापेमारी की फोटोज़ भी सामने आ चुकी हैं.

    आयकर विभाग से जारी एक प्रेस रिलीज़ से जाहिर हुआ है कि मोईन के घर से मिले बीस करोड़ के तार एक प्रमुख राजनीतिक पार्टी से जुड़े हुए हैं और यह पैसा भोपाल से दिल्ली में इस प्रमुख पार्टी मुख्यालय पर पहुँचा है.

    बेजीपी नेता नलिन कोहली ने इस जानकारी के मिलने पर कहा है इससे जाहिर है कि मोईन के घर पर होने वाली इस रेड से शायद अहमद पटेल को या उनकी पार्टी को कोई डर महसूस हुआ है. इसका सीधा अर्थ है कि कहीं ज़रूर कुछ गड़बड़ है जिससे अहमद पटेल या उनकी पार्टी जुड़ी हुई है.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here