गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का निधन, देशभर में शोक की लहर

    0
    853

    गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर नहीं रहे. मनोहर पर्रिकर लंबी बीमारी से जूझ रहे थे. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर उनके निधन  पर शोक प्रकट किया है. सीएम पर्रिकर शनिवार से ही अस्पताल में भर्ती थे. इससे पहले वो सितंबर में अमेरिका से इलाज करवाकर भारत लौटे थे. अमेरिका में उनका एक सप्ताह इलाज हुआ था. अमेरिका से लौटने के बाद पिछले साल अक्टूबर में दोबारा तबीयत खराब होने पर उन्हें दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था. एक महीने एम्स में भर्ती रहने के बाद उन्हें एयर एंबुलेंस के जरिए गोवा ले जाया गया था और गोवा में उन्हें आईसीयू में भर्ती रखा गया था. लेकिन स्वास्थ में थोड़ा सुधार होने के बाद ही मनोहर पर्रिकर ने मुख्यमंत्री का कार्यभार संभाल लिया था. उनकी नाक में ऑक्सीजन के पाइप लगी तस्वीरें साबित कर रही थीं कि वो कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से पीड़ित होने के बावजूद अपने कार्य के प्रति कितने समर्पित हैं.

    मनोहर पर्रिकर की पहचान एक ईमानदार और सादगी भरा जीवन जीने वाले इंसान की थी. आईआईटी बॉम्बे से ग्रेजुएट पर्रिकर तीन बार गोवा के मुख्यमंत्री रह चुके थे और साल 2014 में केंद्र में मोदी सरकार के आने के बाद उन्हें रक्षा मंत्री की सबसे बड़ी जिम्मेदारी दी गई थी लेकिन बाद में गोवा के राजनीतिक कारणों की वजह से गोवा की जनता के बीच उनकी जरूरत और अहमियत को देखते हुए वापस गोवा भेजा गया था.

    ये विडंबना है कि कैंसर दिवस पर मनोहर पर्रिकर ने कहा था कि मानव मस्तिष्क किसी भी बीमारी पर जीत हासिल कर सकता है. लेकिन कैंसर से चली लंबी लड़ाई को आखिर पर्रिकर 63 साल की उम्र में हार गए. उनके निधन से पूरे देश में शोक की लहर फैल गई  है.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here