देश-द्रोहियों_पर_कहर_बरसाने_ आ_गया_है_देशभक्त_दबंग !

    0
    1783

    पहले यह जान लीजिए कि आज से ठीक 5 वर्ष पूर्व जनवरी 2014 की कड़कड़ाती ठंड में एक एयरकंडीशंड कमरे में लिया गया राहुल गांधी का इंटरव्यू देश ही नहीं पूरी दुनिया में चर्चित हुआ था।

    कारण यह था कि हाड़ कंपा देनेवाली उस ठंड में लिए गए उस इंटरव्यू के दौरान बहुत तीखे और गर्म सवालों के कारण राहुल गांधी के माथे से लगातार टपकती रही पसीने की बूंदों का सच कैमरे में कैद हो गया था। वह इंटरव्यू लिया था अरनब गोस्वामी ने। नतीजा यह निकला था कि कांग्रेस ने अरनब गोस्वामी का बहिष्कार करने की सार्वजनिक घोषणा कर दी थी। कांग्रेस द्वारा अरनब का वह बहिष्कार आज भी जारी है।

    अब बात मुद्दे की…
    आज दिन भर बजट के ख़िलाफ़ ज़हर उगलने के बाद रात में #आजतक न्यूजचैनल के एडिटर सईद अंसारी ने बजट को उपमा दी… “मोदी सरकार के झूठ का छक्का”।

    एबीपी न्यूज भी दिनभर ऐसी ही हरकतों पर उतारू दिखा। यह तो एक उदाहरण मात्र है। पिछले कई महीनों से ये दोनों चैनल इसीतरह कांग्रेसी दिहाड़ी पर काम करते नज़र आ रहे हैं। लेकिन अब इनके दिन लदने वाले हैं।

    क्योंकि #अरनबगोस्वामी का हिन्दी न्यूजचैनल #रिपब्लिकभारत आज 2 फ़रवरी से शुरू हो रहा है।
    अंग्रेज़ी न्यूजचैनलों की होड़ और दौड़ में #आजतक_ के अंग्रेज़ी न्यूजचैनल #INDIA_TODAY समेत सभी अंग्रेज़ी न्यूज चैनलों को बुरी तरह धूल चटाते हुए भारी अंतर के साथ लगातार पौने 2 वर्षों से TRP चार्ट पर रिपब्लिक का अंग्रेज़ी न्यूज चैनल टॉप पर स्थान बनाए हुए है।

    अंग्रेज़ी के रिपब्लिक न्यूजचैनल की लोकप्रियता की स्थिति यह है कि देश की सबसे बड़ी न्यूजचैनल श्रृंखला #News18 के मालिक मुकेश अम्बानी ने अपने इंटरव्यू में राजदीप सरदेसाई से बहुत साफ शब्दों में कहा था कि तुम्हारी न्यूज तो मैं देखता ही नहीं। जब फुर्सत होती है तो मैं अरनब गोस्वामी की न्यूज देखता हूं।

    10-15 दिन पहले भी एक कार्यक्रम के मंच से मुकेश अम्बानी ने अरनब गोस्वामी को न्यूज इंडस्ट्री में अनुपम मिसाल कायम करने के लिए सार्वजनिक रूप से जमकर सराहा था। मीडिया जगत के अपने सबसे सशक्त प्रतिद्वंदी से किसी को ऐसी प्रशंसा तब ही प्राप्त होती है जब उसमें कुछ बहुत खास होता है।

    इसके ठीक विपरीत केवल कांग्रेस ही नहीं बल्कि रविशकुमार, राजदीप सरदेसाई, बरखा दत्त, पुण्यप्रसून बाजपेई, अभिसार शर्मा समेत लुटियनिया दिल्ली की दलाल मीडिया के सभी गुर्गे अपने-अपने न्यूजचैनलों पर अखबारों में सोशलमीडिया में पिछले काफी लम्बे समय से अरनब गोस्वामी के ख़िलाफ़ जमकर ज़हर उगल रहे हैं। लेकिन इस पूरी अरनब विरोधी कवायद के बावजूद अरनब गोस्वामी जनलोकप्रियता के शिखर पर विराजमान है।

    ऐसा क्यों है.? इस सवाल का जवाब आप इस एक उदाहरण से जान जाएंगे…
    सुप्रीमकोर्ट में राफेल युद्धक विमान से सम्बन्धित राहुल गांधी के सफेद झूठ की धज्जियां उड़ जाने के बावजूद जब #आज़तक__ #एबीपी सरीखे न्यूजचैनल और रविशकुमार, राजदीप सरदेसाई सरीखे मीडियाई दलाल अपनी अगर मगर का इंजेक्शन लगाकर राफेल युद्धक विमान से सम्बन्धित राहुल गांधी के सफेद झूठ की लाश को जिंदा सिद्ध करने की करतूतों में जुटे हुए थे उस समय अरनब गोस्वामी ने उस झूठ की लाश का अन्तिम संस्कार किस तरह किया यह यूट्यूब में आप स्वयं देखिए – आर /दि डीबेट /अरनब्स लीड स्टोरी/  #रफायलड्रामाफ्लाप्स  पर.

    पहले यह जान लीजिए कि आज से ठीक 5 वर्ष पूर्व जनवरी 2014 की कड़कड़ाती ठंड में एक एयरकंडीशंड कमरे में लिया गया राहुल गांधी का इंटरव्यू देश ही नहीं पूरी दुनिया में चर्चित हुआ था। क्योंकि हाड़ कंपा देनेवाली उस ठंड में लिए गए उस इंटरव्यू के दौरान बहुत तीखे और गर्म सवालों के कारण राहुल गांधी के माथे से लगातार टपकती रही पसीने की बूंदों का सच कैमरे में कैद हो गया था। वह इंटरव्यू लिया था अरनब गोस्वामी ने। नतीजा यह निकला था कि कांग्रेस ने अरनब गोस्वामी का बहिष्कार करने की सार्वजनिक घोषणा कर दी थी। कांग्रेस द्वारा अरनब का वह बहिष्कार आज भी जारी है।

    अब बात मुद्दे की…
    आज दिन भर बजट के ख़िलाफ़ ज़हर उगलने के बाद रात में #आजतक न्यूजचैनल के एडिटर सईद अंसारी ने बजट को उपमा दी… “मोदी सरकार के झूठ का छक्का”।

    एबीपी न्यूज भी दिनभर ऐसी ही हरकतों पर उतारू दिखा। यह तो एक उदाहरण मात्र है। पिछले कई महीनों से ये दोनों चैनल इसीतरह कांग्रेसी दिहाड़ी पर काम करते नज़र आ रहे हैं। लेकिन अब इनके दिन लदने वाले हैं।

    क्योंकि #अरनब_गोस्वामी का हिन्दी न्यूजचैनल #रिपब्लिक_भारत 2 फ़रवरी से शुरू हो रहा है।
    अंग्रेज़ी न्यूजचैनलों की होड़ और दौड़ में #आजतक_ के अंग्रेज़ी जचैनल #INDIA_TODAYसमेत सभी अंग्रेज़ी न्यूजचैनलों को बुरी तरह धूल चटाते हुए भारी अंतर के साथ लगातार पौने 2 वर्षों से TRP चार्ट पर रिपब्लिक का अंग्रेज़ी न्यूजचैनल टॉप पर स्थान बनाए हुए है।

    अंग्रेज़ी के रिपब्लिक न्यूजचैनल की लोकप्रियता की स्थिति यह है कि देश की सबसे बड़ी न्यूज चैनल श्रृंखला #News18 के मालिक मुकेश अम्बानी ने अपने इंटरव्यू में राजदीप सरदेसाई से बहुत साफ शब्दों में कहा था कि तुम्हारी न्यूज तो मैं देखता ही नहीं। जब फुर्सत होती है तो मैं अरनब गोस्वामी की न्यूज देखता हूं। 10-15 दिन पहले भी एक कार्यक्रम के मंच से मुकेश अम्बानी ने अरनब गोस्वामी को न्यूज इंडस्ट्री में अनुपम मिसाल कायम करने के लिए सार्वजनिक रूप से जमकर सराहा था। मीडिया जगत के अपने सबसे सशक्त प्रतिद्वंदी से किसी को ऐसी प्रशंसा तब ही प्राप्त होती है जब उसमें कुछ बहुत खास होता है। 

    इसके ठीक विपरीत केवल कांग्रेस ही नहीं बल्कि रविशकुमार, राजदीप सरदेसाई, बरखा दत्त, पुण्यप्रसून बाजपेई, अभिसार शर्मा समेत लुटियनिया दिल्ली की दलाल मीडिया के सभी गुर्गे अपने-अपने न्यूज चैनलों पर अखबारों में सोशलमीडिया में पिछले काफी लम्बे समय से अरनब गोस्वामी के ख़िलाफ़ जमकर ज़हर उगल रहे हैं। लेकिन इस पूरी अरनब विरोधी कवायद के बावजूद अरनब गोस्वामी जनलोकप्रियता के शिखर पर विराजमान है।

    ऐसा क्यों है.? इस सवाल का जवाब आप इस एक उदाहरण से जान जाएंगे…

    सुप्रीमकोर्ट में राफेल युद्धक विमान से सम्बन्धित राहुल गांधी के सफेद झूठ की धज्जियां उड़ जाने के बावजूद जब #आज़तक__#एबीपी सरीखे न्यूजचैनल और रविशकुमार, राजदीप सरदेसाई सरीखे मीडियाई दलाल अपनी अगर मगर का इंजेक्शन लगाकर राफेल युद्धक विमान से सम्बन्धित राहुल गांधी के सफेद झूठ की लाश को जिंदा सिद्ध करने की करतूतों में जुटे हुए थे उस समय अरनब गोस्वामी ने उस झूठ की लाश का अन्तिम संस्कार किस तरह किया यह इस वीडियो में आप स्वयं देखिए इस वीडियो में यूट्यूब पर – आर. /दि डीबेट /अरनब्स लीड स्टोरी/  #रफायलड्रामाफ्लाप्स  

    (सतीश चन्द्र मिश्रा)

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here