मसूद अजहर से ‘जी’ लगाया चीन ने – किया वीटो का इस्तेमाल

    योग गुरू स्वामी रामदेव ने कहा है कि अब वक्त आ गया है कि चीन की आर्थिक बहिष्कार किया जाना चाहिए

    0
    857

    राहुल ने मोदी पर उठाए सवाल, रामदेव बोले अब हो चीन का बहिष्कार..

    चीन ने एक बार फिर आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को बचाने के लिए ढाल बनने का काम किया है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन ने मसूद अजहर को अंतर्राष्ट्रीय आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव गिरा दिया. चीन ने वीटो का अधिकार कर पाकिस्तान के साथ दोस्ती निभाते हुए अजहर पर अड़ंगा लगा दिया.

     चीन की कारगुजारी को लेकर देश की सियासत में भूचाल  आ गया है. अब चीन के सामान का बहिष्कार करने और चीन से भी एमएफएन का दर्जा वापस लेने की मांग की जा रही है.

    योग गुरू स्वामी रामदेव ने कहा है कि चीन एक व्यापारिक देश है और वो केवल व्यापारिक बात ही समझता है. ऐसे में अब वक्त आ गया है कि चीन की आर्थिक बहिष्कार किया जाना चाहिए.

    वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के खिलाफ कमजोर पड़ने का आरोप लगाया. जिस पर बीजेपी ने पलटवार करते हुए कहा कि साल 2009 में भी चीन ने मसूद अजहर के लिए वीटो का इस्तेमाल करते हुए टेक्निकल ऑबजेक्शन लगाया था तो तब क्या उन्होंने ट्वीट किया था? केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि जब देश को पीड़ा होती है तो राहुल खुश होते हैं.

    चीन ने भले ही वीटो का अधिकार करते हुए मसूद अजहर के खिलाफ फ्रांस,ब्रिटेन और अमेरिका के प्रस्ताव को गिरा दिया लेकिन सदस्य देश दूसरे विकल्प पर विचार कर रहे हैं. खास बात ये है कि मसूद अजहर के मामले में कम्यूनिस्ट देश रूस भी भारत के साथ खड़ा है और वो मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने का समर्थन करता है.

    लेकिन चीन इस कदम से दुनिया में आतंकवाद के खिलाफ मुहिम चला रहे देशों में अलग-थलग पड़ सकता है. यही वजह है कि चीन ने इसे तकनीकी आधार बताते हुए खारिज किया. लेकिन दुनिया ये जानती है कि चीन ने लगातार चौथी बार मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के खिलाफ वीटो का अधिकार किया है. लेकिन अब अमेरिका समेत दूसरे देश अजहर को घेरने के लिए दूसरे विकल्प पर विचार करेंगे जो कि चीन के लिए कड़ा सबक होगा.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here