विश्वकप में टीम इन्डिया की पहली जीत

पहले ही मैच में दक्षिण अफ्रीका को 6 विकेट से हरा कर भारत ने अपने इरादे साफ कर दिये हैं..

0
705

भारत ने कमाल नहीं किया. ये तो होना ही था. टीम इन्डिया ने बस समझदारी के साथ अपना स्वाभाविक प्रदर्शन किया

भारत ने परास्त कर दिया विश्वकप के अपने पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को. पहले ही दो मैच हार चुकी दक्षिण अफ्रीका आज के मैच में पूरी तरह तैयार हो कर मैदान में उतरी थी. भारत के विरुद्ध उन्होंने होमवर्क पूरा कर रखा था. और उसी योजना के अनुसार दक्षिण अफ्रीका ने टॉस जीत कर पिछली दोनों बार की तरह क्षेत्ररक्षण नहीं चुना. भारत के खिलाफ जीत पक्की करने के लिए उन्होंने पहले बल्लेबाज़ी का निर्णय किया.

वैसे ऐसा नहीं है कि दक्षिण अफ्रीका को आज के मैच में क्या होने वाला है, इसका इल्म नहीं था. उन्हें पता था कि भारत के खिलाफ वे हारने के लिए ही मैदान में जा रहे हैं. लेकिन फिर भी उन्होंने कोशिश अपनी पूरी की. लेकिन उस पूरी कोशिश ने भी उनको जीत का तोहफा नहीं दिया.

भारत की जबरदस्त गेंदबाज़ी ने दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज़ों को मैदान में ठहरने नहीं दिया. एक के बाद एक बल्लेबाज़ पैवेलियन की तरफ जाते नज़र आये. हालांकि उन्होंने बीच में दो तीन बार छोटी -छोटी साझेदारियाँ भी बनाई, लेकिन फिर भी उनकी मेहनत काम न आई.

डुप्लेसी, डिकाक और मोरिस ने सबसे अच्छी पारियाँ खेलीं फिर भी 228 रनों पर 9 विकेट बना कर उन्होंने अपनी इनिंग पूरी की. पहले बूम बूम बूमरा और फिर चहल ने शानदार गेन्दबाजी का प्रदर्शन किया. अंत में भुवनेश्वर ने आखिरी ओवर में दो विकेट झटक कर रही सही कसर पूरी कर दी. जसप्रीत बुमरा ने दो और चहल ने चार विकेट झटके. भुवि ने दो विकेट लिए अब भारत को जीत के लिये बनाने थे मात्र 229 रन. फिर मैदान में उतरे भारतीय बल्लेबाजों ने समझदारी का परिचय देते हुए सम्हल कर बल्लेबाजी की.

शिखर धवन जरूर शुरू में ही सस्ते में चले गये लेकिन फिर कोहली के साथ रोहित शर्मा ने पारी को आगे बढ़ाया. अतिरिक्त सावधानी की वजह से अपना प्राकृतिक खेल न खेल पाने का दबाव कोहली पर नजर नहीं आया. किन्तु फिर भी वे ज्यादा देर तक मैदान में रुक नहींं पाये. उनके बाद आये केएल राहुल ने कुछ अच्छे हाथ दिखाये. उन्होंने भी मैदान में रोहित शर्मा के साथ लंबी साझेदारी का इरादा दिखाया लेकिन अपना सौ प्रतिशत लगाकर खेल रहे दक्षिण अफ्रीका ने उनको भी बहुत देर तक टिकने नहीं दिया.

राहुल के बाद आये धोनी ने भी एक अहम साझेदारी निभाई और रोहित ने अपना 21 वाँ शतक पूरा किया. रोहित शर्मा ने 144 गेंदों पर नाबाद 122 रन बनाये जबकि धोनी ने 34 रनों का अहम योगदान दिया. रोहित शर्मा अंत तक आउट नहीं हुए और मैन ऑफ दि मैच के हकदार बने. कप्तान कोहली ने 18 रन बनाये तो वहीं लोकेश राहुल ने 26 रनों का योगदान दिया, तो वहीं दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज़ कागिसो रबाडा ने भी दो विकेट और मोरिस तथा फेलकुवाओ ने एक-एक विकेट लिए.

धोनी के कैच आउट होने के बाद आये हार्दिक पन्ड्या ने बता दिया कि उनका चयन करके चयनकर्ताओं ने कोई गलती नहीं की. उन्होंने एक जोरदार चौका जमा कर शुरुआत की औऱ फिर अगले ही ओवर में तीन चार दुक्के जमा कर आखिरी चौक्का लगा दिया औऱ भारत ने 6 विकेट से परास्त किया दक्षिण अफ्रीका को भी और उनके हौसले को भी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here