फिर लुट गया दुल्हन से दुल्हा, आई लुटेरी दुल्हन नई !

लुटेरी दुल्हन का एक नया सेगमेन्ट आ गया है मार्केट में, इस नई वाली लुटेरी दुल्हन को सीनियर सिटीजन्स ज्यादा पसंद आये हैं..

0
626

नई दिल्ली.  फिर से हुृआ गाजियाबाद का नाम रोशन. भारत की अपराध-सिटी का इस बार नाम रोशन किया नई लुटेरी दुल्हन ने. ये दुल्हन रहने वाली है गाजियाबाद की लेकिन है प्रतिभाशाली जिसने पिछले दस सालों मे 8 दुल्हों को लूट कर लुटेरी दुल्हनों की रिकार्ड बुक में नया रेकार्ड बना लिया है.

दुलहन को सीनियर सिटिजंस पसंद हैं

जिस लुटेरी दुल्हन के विरुद्ध एफआईआर गाजियाबाद पुलिस ने दर्ज की है, वह पिछले दस सालों में आठ लोगों से शादी कर चुकी है. उसके आठों शिकार पक्की उमर के पके हुए लोग हैं अर्थात ये सीनियर वो सिटिज़न्स हैं जो एक अदद नौजवान बीवी के लालच में आ कर इस लुटेरी दुल्हन के बिछाये जाल में फंस गए. ये सभी दूल्हे  गाजियाबाद, और दिल्ली नोएडा के रहने वाले सीनियर सिटिजेन्स हैं.

ली मदद विवाह एजेंसी की 

दिल्ली की एक विवाह एजेंसी को इस लुटेरी दुल्हन ने अपनी मदद का जरिया बनाया और उसका इस्तेमाल करके  बारी बारी से 8 सीनियर सिटिज़न्स को अपना दुल्हा बनाया और इन आठों दूल्हों से कैश और ज्यूलरी उड़ा कर पतली गली से निकल गई. इसके पहले कि वह नौवें दुल्हे को अपना शिकार बनाती, पुलिस ने उसे अपना शिकार बना लिया और वो पहुंच गई जेल.

मीठी-मीठी प्यार की बातें

पुलिस नने मामले की जांच शुरू की तो पता चला है कि गाजियाबाद और नोएडा में अपने दुल्हे तलाशने वाली इस कलाकार दुल्हन ने मीठी बातें करने में महारथ हासिल की हुई है.  अपने शिकार से वो इतनी प्यार भरी बातें करती है कि उनको इससे बुरी तरह प्यार हो जाता है और इस तरह दुल्हन का आधा काम अपनेआप डन हो जाता था. शेष कार्य भी विवाह के बाद हो जाता है और शीघ्र ही इसका नया पति एक दिन सुबह उठ कर अपने घर को भी उसी तरह खाली पाता है जिस तरह अपने दिल को.  और तब अगले आधे घंटे में वो थाने में नज़र आता दिखाई देता है.

मोना डार्लिंग टाइगर के पास थी

गाजियाबाद की इस लुटेरी दुल्हन को उसके दुल्हे की मोनिका डार्लिंग कहा करते थे. इस बात को ऐसे कह सकरे हैं कि वधु का नाम है मोनिका और कहने की जरूरत नहीं कि उसका नाम ही उसका आधा काम कर कर देता था और अधेड़ प्रेमियों पर उसका नाम औऱ काम जादू का असर करता था.  मोनिका बाई नेचर कंजूस भी नहीं है, जब प्यार लुटाती तो दिल खोल कर प्यार लुटाती थी अपने दूल्हों पर. फिर उस रात की सुबह नहीं होती थी क्योंकि वो रात को ही अपना काम करके उड़ नहीं जाती थी बल्कि कुछ दिन तक पिया के घर रह कर बड़े आराम से पतियों का प्रेम और विश्वास जीत कर उनका कैश तथा ज्यूलरी तक पहुंच बना लेती थी और एक दिन सब लेकर निकल जाती थी अपनी नई दुनिया बसाने कहीं दूर.

कहानी है कवि नगर की

ये प्रेमलूट हुई है कवि नगर, गाजियाबाद में जहां के निवासी जुगल किशोर जी एक सज्जन व्यक्ति हैं. तो भी हैं तो इन्सान ही, सो वे भी चढ़ गये इस दुल्हन की भेंट. बताया जाता है कि कुछ साल पहले उनकी पत्नी का निधन हुआ था. बेटा भी साथ नहीं रहता है. सज्जनता और अकेलेपन के दुहरे शिकार जुगल किशोर जी का प्रेमी दिल मोनिका की फोटो देख कर मचल उठा और विवाह के सपने बुनने लगा. क्या हुआ जो उमर में पच्चीस साल कम थी उनकी मोनिका, जुगल किशोर को देखो तो वो भी उनको ना नहीं कह पाई. फिर क्या था, हो गया चट मंगनी पट ब्याह.

प्रेम नहीं इन्सान बुरा होता है 

अगस्त 2019 में घर लाये थे जुगल जी अपनी दुल्हन को. उनकी प्यारी दुल्हनिया ने भी हद कर दी और पूरे दो महीने उनके साथ रही. ये अब तक दुनिया की किसी भी लुटेरी दुल्हन का इतने लम्बे समय तक अपने पति के साथ रहने का सबसे बड़ा कीर्तिमान है. और एक सुबह दुल्हन सचमुच परी बन गई याने कि उसको पंख लग गए. उसके बाद जब जुगल जी नींद से जागे तो उनको पता चला कि चिड़िया चुग गई खेत.

दिखी मोनिका सीसी टीवी में

शादी वाली एजेन्सी पहुंचे जुगल जी थाने में शिकायत दर्ज कराके. तब उनके पैरो तले जमीन खिसक गई जब वहां उनको पता चला कि उनका एक सौता भी है. उनको ये पता चला कि वे अकेले नहीं, कोई और भी है जिसने उनका दुख बांटा है अर्थात मोनिका का एक पति और है और वो भी उनकी तरह ही उनकी दुल्हन को ढूंढ रहा है. दोनों के साथ एक जैसा हादसा हुआ था क्योंकि दोनो के घर का कीमती सामान, जेवर औऱ कैश लेकर फरार हुई थी ये कहानी मीडिया तक पहुंची तब तक ये पता चला है कि कुल मिला कर आठ सीनियर सिटीजन्स तलाश कर रहे हैं अपनी दुल्हन को जिसका नाम है मोनिका !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here