साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बीजेपी से चुनाव लड़ने के ऐलान के साथ ही सियासत में संग्राम छिड़ गया है. दिल्ली से लेकर कश्मीर तक उन पर आरोपों के तीर चलाए जा रहे हैं. नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अबदुल्ला कह रहे हैं कि जमानत पर बाहर आकर पज्ञा चुनाव कैसे लड़ रही हैं.

मध्य प्रदेश की भोपाल सीट से बीजेपी का उम्मीदवार घोषित होने के बाद साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया.प्रज्ञा ने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व भी जमानत पर बाहर है और चुनाव लड़ रहा है. उन्होंने कहा कि वो अभी जमानत पर हैं लेकिन उन्हें एनआईए ने क्लीन चिट दी है.

कांग्रेस नेता दिग्विजिय सिंह के खिलाफ भोपाल की लोकसभा सीट से प्रज्ञा सिंह चुनाव लड़ रही हैं. दिग्विजय सिंह साल 2003 के बाद कोई चुनाव लड़ रहे हैं. तकरीबन 17 साल बाद उनके सामने वो साध्वी है जिसकी गिरफ्तारी की साजिश के आरोप दिग्विजय सिंह पर  ज्यादा चस्पा हैं. ऐसे में ये जंग चुनावी कम और निजी ज्यादा होने की आशंका है.

प्रज्ञा ने बताया कि यूपीए की सरकार के वक्त जब वो जेल में बंद थीं तो उनके साथ महाराष्ट्र एटीएस किस तरह का  सलूक करती थी. दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि आतंकवादियों के नाम के साथ जी लगाने वाले उन्हें आतंकवादी बनाना चाहते थे. जेल के दिनों को याद कर प्रज्ञा रो पड़ीं. उनकी आंखों में आंसू आ गए.

उन्होंने कहा कि, ‘मेरे खिलाफ साजिश रची गई थी. मुझे जेल में बहुत प्रताड़ित किया गया. पीटने वाले मुझसे जबरन झूठ बुलवाया जाता था. कुछ लोग चाहते हैं कि मुझे फांसी पर लटका दिया जाए. लेकिन एनआईए ने कहा कि मैं आतंकवादी नहीं हूं. मुझे राजनीति का अनुभव है, मैं कभी विवादों में नहीं रही.’

वहीं, साध्वी प्रज्ञा को चुनाव लड़ने से रोकने की कांग्रेसी चाल को चुनाव आयोग ने बड़ा झटका दिया है.कांग्रेस नेता के भाई तहसीन पूनावाला ने प्रज्ञा ठाकुर के चुनाव लड़ने पर रोक लगाने के लिए चुनाव आयोग से शिकायत की थी लेकिन चुनाव आयोग ने कहा कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर किसी भी मामले में दोषी नहीं है. उनपर कोई भी दोष साबित नहीं हुआ है और उनके चुनाव लड़ने की उम्मीदवारी पर रोक नहीं लगाई जा सकती.

साध्वी 23 अप्रैल को अपना नामांकन दाखिल करेंगी. बीजेपी ने दिग्विजय सिंह को प्रज्ञा सिंह के खिलाफ उतारकर कांग्रेस के हिंदू आतंकवाद पर बड़ा कार्ड खेला है.  अब देखना होगा कि साध्वी के हमलों पर दिग्विजय सिंह कितना ज़ीरो टॉलरेंस दिखाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here