भारत में लोकसभा चुनाव चल रहे हैं. सत्रहवीं लोक सभा के गठन के लिए भारतीय नागरिक अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी की रैलियां चल रहीं हैं और पक्ष विपक्ष के एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप के दौर भी साथ चल रहे हैं. ऐसे में विश्व की सर्वोच्च महाशक्तियों में से एक चीन ने माना है कि भारतवर्ष के अगले प्रधानमंत्री भी मोदी ही होंगे.

चीन से आए इस वक्तव्य को सीधे सीधे प्रस्तुत नहीं किया गया है. चीन ने इस तथ्य को प्रकारांतर से पेश किया है. चीन का कहना है कि 2019 के बाद भी नरेंद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री बने रहेंगे. यह बयान भारतीय मामलों से जुड़े चीन के उप विदेश मंत्री कोंग शुआन्यू के माध्यम से सामने आया है.

चीन के उप-विदेश मंत्री ने प्रकारांतर से चीन के भारत के निकट आने का कारण प्रस्तुत किया है. मोदी और उनकी पार्टी की विजय की भविष्यवाणी करते हुए कोंग शुआन्यू का कहना है कि शी जिनपिंग और पीएम मोदी दोनों के पास विश्व मंच के कई उत्तरदायित्व हैं. उन्होंने दोनों नेताओं को विश्व स्तर पर सामरिक निर्णयकर्ता मानते हुए उनकी भूमिकाओं को ऐतिहासिक बताया है. उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं को उनकी प्रजा ने व्यापक समर्थन प्रदान किया है.

इतना ही नहीं चीन के सरकारी अखबार में विदेशी मामलों के विशेषज्ञ का लेख प्रकाशित हुआ है जिसमे भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2019 के चुनावों का केंद्र बिंदु माना गया है. उसमें चीन के लिए सन्देश स्पष्ट किया गया कि भारत के राजनीतिक हालात को चीन को स्वीकार कर लेना चाहिए. भारत में भविष्य की घरेलू और विदेश नीति में एक साफ नीति नज़र आएगी. इस अखबार ने यह भी कहा कि मोदी को लोगों ने विकास पुरुष के तौर पर चुना है और मोदी ने यह साबित किया है कि वह बयानबाज़ी करने वाले दूसरे नेताओं से बढ़कर काम करने वाले नेता हैं.

इसके पहले इस महीने ही एक साल पुराने पाकिस्तान के लोकप्रिय प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी स्वीकार किया था कि मोदी चुनाव जीतेंगे. इस बयान में इमरान ने यह भी कहा कि मोदी के जीतने के बाद भारत से पाकिस्तान के रिश्ते सुधरने की संभावना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here