पाकिस्तान के बालाकोट में एयरस्ट्राइक को एक महीने से ज्यादा बीते चुके हैं लेकिन इसके बावजूद पाकिस्तान को अभी भी भारतीय हमले के डरावने सपने आ रहे हैं. पाकिस्तान ने कहा है कि भारत इसी महीने अप्रैल में एक बार फिर पाकिस्तान पर हमला करने वाला है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमदू कुरैशी ने कहा कि ‘हमारे पास पुख्ता जानकारी है कि भारत पाकिस्तान पर नया हमला करने की रणनीति बना रहा है. हमारी जानकारी के मुताबिक, 16 से 20 अप्रैल के बीच ये हो सकता है.’

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक पाकिस्तान ने कहा है कि उसके पास ‘विश्वसनीय जानकारी’ है कि भारत 16 से 20 अप्रैल के बीच पाकिस्तान पर हमला कर सकता है. हालांकि कुरैशी ने ये नहीं बताया कि उन्हें भारतीय हमले की इतनी सटीक जानकारी और हमले की तारीख के बारे में कैसे पता चला. कुरैशी ने कहा कि पीएम इमरान खान ने ये जानकारी पाकिस्तान के साथ बांटने पर अपनी रज़ामंदी जताई है.

बड़ा सवाल ये है कि पाकिस्तान के इस नए पैंतरे को आखिर किस तरह से समझा जाए. क्या पाकिस्तान भारत के खिलाफ कोई बड़ी साजिश रच रहा है जिस वजह से वो पहले से ही भारत पर पलटवार की भूमिका बना रहा है?

भारत में 11 अप्रैल से लोकसभा चुनाव शुरू होने जा रहे है. ऐसे में पाकिस्तानी सरकार के मंत्री का इस तरह का बयान कई संदेह पैदा करता है. पाकिस्तान के इतिहास को देखते हुए इस आशंका को भी नहीं खारिज किया जा सकता है कि कहीं पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकी संगठनों के जरिए भारतीय लोकतांत्रिक चुनावी प्रक्रिया को बाधित करने की तैयारी में किसी बडी़ साजिश को अंजाम देने की फिराक में तो नहीं?

पुलवामा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए आतंकी हमले के बाद ही भारतीय वायुसेना ने अपने अदम्य शौर्य का परिचय देते हुए पाकिस्तान में घुस कर आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूत किया था. भारत का ये हमला पूरी तरह असैन्य कार्रवाई थी जिसका इरादा पाकिस्तान की सेना या अवाम पर हमला करना नहीं था. इसके बावजूद पाकिस्तान ने इस हमले के नाम कई झूठ गढ़े और फर्जी तस्वीरों के जरिये दुनिया को गुमराह करने की कोशिश की ताकि ये साबित न हो सके कि उसकी जमीन पर आतंकी संगठनों की पनाहगाह मौजूद हैं और भारत ने उन्हें तबाह किया. लेकिन अब पाकिस्तान के एक जिम्मेदार मंत्री का गैर जिम्मेदाराना बयान कई संदेह खड़े करता है. वैसे भी पाकिस्तान बनने के बाद भारत ने अपनी तरफ से कभी पाकिस्तान पर हमला नहीं किया. बहरहाल, भारत की तरफ से कुरैशी के बयान पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here