भारत की Corona Vaccine के साइड इफेक्ट्स नहीं, पहला शॉट लेने वाली AIIMS की डॉक्टर ने की पुष्टि

भारत में अब एक हफ्ते बाद ही कोरोना से बचाव हेतु वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है, ऐसे में भारत की दोनों कोरोना वैक्सीन कोरोना के खिलाफ जंग में भारत का कामयाब हथियार सिद्ध हो सकती हैं..

0
208

नई दिल्ली. भारत की अपनी Corona Vaccine एक खुशखबरी की तरह कामयाब होती दिखाई दे रही हैं. 16 जनवरी से वैक्सीनेशन की खुशखबरी आज शनिवार को ही सामने आई है. ऐसे में भारत की देसी कोवैक्सीन के तीसरे चरण में पहला शॉट लेने वाली एम्स की डॉक्टर ने दावा किया है कि कोवैक्सीन सुरक्षित वैक्सीन है और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है.

कोवैक्सीन और कोविशील्ड बनाएंगी इतिहास

भारत बायोटेक की भारतीय कोवैक्सीन ICMR अर्थात आल इंडियन काउन्सिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के सहयोग से मिल कर निर्मित हुई है जिसे कोरोना के विरुद्ध सफल माना जा रहा है. एक हज़ार से अधिक लोगों को कोवैक्सीन के third stage के ट्रायल में रजिस्टर किया गया था इस देसी वैक्सीन के परीक्षण के लिए बहुत से वालंटियर्स ने भी रजिस्ट्रेशन कराया था जिनको कोवैक्सीन का पहला इंजेक्शन भी लगाया जा चुका है.

कोवैक्सीन के ट्रायल का तीसरा चरण भी सफल

भारत ने स्लो एंड स्टीडी विंस दी रेस की कहावत को चरितार्थ किया है और देश की दोनों कोरोना वैक्सीन्स अपनी कामयाबी का इतिहास लिखने जा रही हैं. भारत में निर्मित कोरोना वैक्सीन्स- कोवैक्सीन (Covaxine) और कोविशील्ड (Covishield) अपने परीक्षणों में सफल रही हैं. इन वैक्सीन के सभी चरणों के परीक्षणों में यह परिणाम सामने आया है कि ये दोनों साइड इफेक्ट मुक्त वैक्सीन हैं.

पहला शॉट लेने वाली थीं एम्स की एक डॉक्टर

AIIMS की महिला डॉक्टर ने इस साहसिक कार्य को अंजाम दिया था. जब कोवैक्सीन के तीसरे चरण का परीक्षण प्रारंभ हुआ तो देसी वैक्सीन का पहला शॉट डॉक्टर श्रीवास्तव ने लिया था, जो एक जोखिम भी सिद्ध हो सकता था. एम्स की इस डॉक्टर ने एक हफ्ते की प्रतीक्षा के बाद वैक्सीन के बारे में बताया कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं नजर आया है.

डॉक्टर श्रीवास्तव हैं चीफ न्यूरो सृजन

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान की इस महिला डॉक्टर का नाम है डॉ. एमवी पद्मा श्रीवास्तव. कोवैक्सीन की थर्ड स्टेज के ट्रायल्स के दौरान पहला शॉट लेने वाली ये महिला डॉक्टर AIIMS के न्यूरोसाइंसेज डिपार्टमेंट की चीफ हैं. कोवैक्सीन को लेकर डॉ. एमवी पद्मा श्रीवास्तव ने यह सुसमाचार देश को दिया और कहा कि भारत में सभी लोगों को देश की यह वैक्सीन उपलब्ध हो सके, इसके लिये सस्ती वैक्सीन के निर्माण का कार्य भी जारी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here