कश्मीर की हलचल से लेकर पाकिस्तान में हड़कंप तक की अबतक की बड़ी बातें

0
513
Courtesy-twitter

जम्मू-कश्मीर में कुछ बड़ा होने वाला है. इसी आशंका और सुगबुगाहट के बीच राजधानी दिल्ली में सरगर्मी तेज हो गई है. संसद भवन ऑफिस में आज रविवार को गृह मंत्रालय की हाईलेवल मीटिंग हुई. इस मीटिंग की अध्यक्षता गृह मंत्री अमित शाह ने की. बैठक में एनएसए अजीत डोवाल और गृह सचिव राजीव गाबा मौजूद रहे. अब सोमवार को सुबह 9.30 बजे कैबिनेट की बैठक होगी. सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक कैबिनेट की बैठक में कश्मीर मुद्दे पर केंद्र सरकार बड़ा फैसला ले सकती है. वहीं सूत्रों के मुताबिक ये भी खबर है कि संसद सत्र के बाद गृह मंत्री दो दिनों के लिए घाटी का दौरा सकते हैं.

पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए पूछा है कि – कहां गई इंसानियत, कश्मीरियत और जम्हूरियत? दरअसल एडवाइज़री जारी होने के बाद जिस तरह से कश्मीर में सेना और सियासत का मूवमेंट तेज हुआ है उसने पीडपी, नेशनल कॉन्फ्रेंस और कांग्रेस की नींद उड़ा दी है. महबूबा ने कहा कि एडवाइज़री के बाद कश्मीर के हालात पर बात करने के लिए हमने होटल में सर्वदलीय बैठक बुलाई थी लेकिन पुलिस ने होटल में बैठक पर रोक लगा दी है.

महबूबा ने ट्वीट किया कि यात्रियों, पर्यटकों और छात्रों को कश्मीर से जाने को कहा गया है, कश्मीरियों को राहत देने की कोशिश नहीं की जा रही है.

दरअसल आतंकी हमले के इनपुट की वजह से जारी हुई एडवाइज़री के बाद न सिर्फ यात्रियों बल्कि जम्मू-कश्मीर में बाहर से खेलने आए खिलाड़ियों को भी घाटी छोड़ने का निर्देश दिया गया है. टीम इंडिया के पूर्व गेंदबाज़ इरफान पठान जम्मू-कश्मीर रणजी टीम के मेंटर हैं और वो कश्मीर आए हुए हैं. जिसके बाद उन्हें भी कश्मीर छोड़ने का निर्देश मिला.

जरूर पढ़ें: कश्मीर में क्या कुछ बड़ा होने वाला है? अमरनाथ यात्रा को बंद कर पर्यटकों को वापस जाने की एडवाइज़री

इससे कुछ ही दिन पहले महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी थी कि आर्टिकल 35 ए हटाने की कोशिश करने वाले हाथ जल जाएंगे. उन्होंने फिर दोहराया है कि इसके गंभीर नतीजे भुगतने होंगे. वहीं केंद्र सरकार की एडवाइज़री के बाद अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों ने कश्मीर छोड़ना शुरू कर दिया है.

जरूर पढ़ें: कश्मीर में सरकार की एडवाइज़री को ‘चेतावनी का चोला’ पहनाने की कोशिश में जुटी कांग्रेस, अतिरिक्त फोर्स की तैनाती को बताया चिंताजनक

योग गुरू रामदेव ने कश्मीर में बढ़ती सरगर्मी पर कहा है कि कश्मीर मे जिसका सालों से इंतज़ार था वो होने वाला है. स्वामी रामदेव ने देहरादून में कहा कि आजादी के बाद से जिसका इंतजार था अब वो होने वाला है. देश की एकता के लिए जरूरी है कि धारा 370 खत्म हो. बाबा रामदेव ने कहा है कि उन्हें अमित शाह पर पूरा भरोसा है. बाबा रामदेव ने कहा कि जम्मू कश्मीर हमारा था और रहेगा.

भारतीय फौज के आक्रमक पलटवार को देखते हुए पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है. शनिवार को पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी का जवाब देते हुए भारतीय सेना ने सीमा पार करने की कोशिश कर रहे BAT के 7 कमांडो को ढेर कर दिया था. अब भारतीय सेना ने पाकिस्तान से कहा है कि वो आ कर अपने जवानों के शव ले जाए लेकिन सफेद झंडे हाथों में थाम कर ही आए.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आज रविवार को इस्लामाबाद में राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (NSC) की बैठक बुलाई है. पाकिस्तानी सेना ने आरोप लगाया है कि भारतीय सेना ने LoC पर क्लस्टर बम का इस्तेमाल किया है. पाकिस्तान ने एलओसी पर फायरिंग के चलते सेना को अलर्ट रहने के लिए कहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here