जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ यात्रा रोकने के बाद कश्मीरी नेताओं में खलबली,बुलाई आपात बैठक

पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना लगाते हुए कहा कि गृह मंत्रालय की एडवाइज़री के बाद से घाटी में भगदड़ मच गई है

0
672
Courtesy-Twitter
Courtesy-Twitter

जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से आतंकी हमले की आशंका को देखते हुए अमरनाथ यात्रियों को घाटी छोड़ने की एडवाइजरी जारी करने के बाद घाटी में गर्माहट आ गई है. सियासी दलों ने आपात बैठक बुलाई है जिसमें सभी दलों ने अपने प्रतिनिधि भेजे. इसी बीच पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना लगाते हुए कहा कि गृह मंत्रालय की एडवाइज़री के बाद से घाटी में भगदड़ मच गई है और एटीएम, राशन की दुकानों और पेट्रोल पंप पर लोगों की भीड़ टूट पड़ी है. उन्होंने कहा है कि क्या भारत सरकार को सिर्फ अमरनाथ यात्रियों की परवाह है और उसने कश्मीरियों को उनके हाल पर छोड़ दिया है?

मुफ्ती ने ये भी ट्वीट किया कि आप एकमात्र मुस्लिमबहुल राज्य का प्यार जीतने में नाकाम रहे जिसने धार्मिक स्तर पर जाने के बजाए सेकुलर भारत को पसंद किया.

वहीं नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर पूछा है कि अगर (अमरनाथ) यात्रा के लिए खतरा है तो गुलमर्ग को क्यों खाली किया जा रहा है?

दरअसल घाटी में आतंकी हमलों के खुफिया इनपुट मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने सुरक्षा एडवाइजरी जारी करते हुए अमरनाथ यात्रा को रोक दिया है और सभी पर्यटकों को जल्द से जल्द घाटी छोड़ने को कहा है. सुरक्षा बलों ने अमरनाथ यात्रा के रूट पर आतंकियों के एक ठिकाने से सर्च ऑपरेशन के दौरान एक अमेरिकन स्नाइपर राइफल एम-24 बरामद की है. सीआरपीएफ, जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना ने एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में आतंकी हमले की साजिश नाकाम करने की जानकारी दी. चिनार कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने बताया कि अमरनाथ यात्रा मार्ग के एक गुप्त ठिकाने से एम -24 अमेरिकी स्नाइपर राइफल दूरबीन के साथ मिली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here