लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में 7 राज्यों की 51 सीटों पर वोटिंग होगी. इस चरण में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, स्मृति ईरानी, राजनाथ सिंह, पूनम सिन्हा, कृष्णा पूनिया और राज्यवर्धन सिंह राठौड़ जैसे दिग्गजों की किस्मत ईवीएम में बंद हो जाएगी.

पांचवें चरण में यूपी में 14 सीटों पर मतदान हो रहा है. ये 14 सीटें लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, कौशांबी, सीतापुर, धौरहरा, मोहनलालगंज, बाराबंकी, केसरगंज, बहराइच, फैजाबाद, फतेहपुर और गोंडा हैं.

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने इन 14 सीटों में से 12 सीटें जीती थीं.

इसके अलावा बिहार की 5, मध्यप्रदेश की 7, पश्चिम बंगाल की 7, राजस्थान की 12, झारखंड की 4 और जम्मू-कश्मीर की 2 सीटों पर मतदान होगा.

अमेठी में सियासी हालात बेहद दिलचस्प हैं. मोदी सरकार ने पूरी ताकत झोंक दी है तो अमेठी के सांसद राहुल गांधी के प्रचार में प्रियंका गांधी लगातार जुटी हुई हैं. यहां राहुल के मुकाबले स्मृति ईरानी बीजेपी से उम्मीदवार हैं. जबकि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने राहुल के खिलाफ कोई उम्मीदवार खड़ा नहीं किया है. इसी तरह रायबरेली से सोनिया गांधी के खिलाफ भी महागठबंधन ने वॉकओवर देते हुए कोई भी उम्मीदवार खड़ा नहीं किया है.

लखनऊ की सीट पर राजनाथ सिंह के मुकाबले महागठबंधन ने पूनम सिन्हा को उम्मीदवार बनाया है. बीजेपी के लिए असली अग्निपरीक्षा यूपी की उन 12 सीटों पर है जहां साल 2014 में उसने चुनाव जीता था. उस वक्त समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने अलग-अलग चुनाव लड़कर एक दूसरे का वोट काटा था जिसक फायदा सीधे तौर पर बीजेपी को मिला था. लेकिन इस बार महागठबंधन की वजह से बीजेपी की राह मुश्किल लग रही है.

बहराइच, कौशांबी, मोहनलाल गंज, सीतापुर, धौरहरा, बांदा और केसरंगज में बीजेपी को कड़ी टक्कर मिल रही है. बहराइच से बीजेपी सांसद रहीं सावित्री बाई फूले ने कांग्रेस ज्वाइन कर ली और अब वो यहां से चुनाव लड़ रही हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here