अंतरिक्ष में मौजूद सैटेलाइट को धरती पर मिसाइल से मार गिराने वाला भारत दुनिया में चौथा देश बन गया है. ‘मिशन शक्ति’ के तहत भारत ने इस ऐतिहासिक मुकाम को 27 मार्च को हासिल किया. ओडिशा के अब्दुल कलाम द्वीप से एंटी सैटेलाइट मिसाइल का परीक्षण किया गया था. अब रक्षा मंत्रालय ने इसका वीडियो जारी किया है.

वीडियो में दिखाया गया है कि किस तरह से अंतरिक्ष में मौजूद सैटेलाइट को इंटरसेप्टर मिसाइल ध्वस्त कर देता है. इस वीडियो में ग्राफिक्स और वीडियो का मिश्रण है ताकि मिशन को शुरू से लेकर आखिरी अंजाम तक दिखाया जा सके.

Courtesy- Youtube

27 मार्च को भारत ने नामुमिकन से दिखने वाले मिशन को पूरा किया था. 300 किलोमीटर की ऊंचाई पर मौजूद लाइव सैटेलाइट को बैलेस्टिक मिसाइल से उड़ा कर दुनिया में हलचल मचा दी थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में डीआरडीओ को ‘चुनौतीपूर्ण तकनीक’ पर काम करने का निर्देश दिया था और 2016 में इस मिशन को उन्‍होंने हरी झंडी दी थी.  स्पेस पावर के रूप में भारत ने ब्रह्मांड में अपनी बादशाहत दर्ज कराई थी. इससे पहले साल 2007 में चीन ने पोलर ऑर्बिट में एक सैटेलाइट को नष्ट किया था. स्पेस में बादशाहत की जंग छिड़ चुकी है.

अमेरिका स्पेस फोर्स बनाने में जुट गया है क्योंकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नासा को इसके लिए आदेश दिया है. वहीं रूस और चीन भी अंतरिक्ष में अपने अपने अनुसंधान और कीर्तिमान स्थापित करते जा रहे हैं. अमेरिका, रूस, चीन के साथ अब भारत भी अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी तकनीक में आगे निकल चुका है. ऐसे में सामरिक ताकत को नुमाया करने के लिए भारत ने मिशन शक्ति के रूप में अपना लोहा विश्व को मनवाया है. भारत ने पोखरण के परमाणु परीक्षण के बाद सबसे जटिल और मुश्किल मिशन को पूरा किया है. इसके साथ ही अब भारत भी एंटी सैटेलाइट वॉर तकनीक हासिल कर चुका है जो उस ताकतवर राष्ट्रों के बराबर खड़ा करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here