सचिन और द्रविड़ को आउट करने वाला गेंदबाज़ ऑस्ट्रेलिया में चला रहा है उबर कैब

क्रिकेट की पिच पर बॉल को नचाने वाला अरशद खान (Arshad Khan) आज ऑस्ट्रेलिया (Australia) में उबर कैब (Uber Cab) चलाने को मजबूर है

0
395
अरशद खान पाकिस्तान के जाने माने ऑफ स्पिनर रहे हैं

तकदीर जब बेवफा हो जाए तो फिर अर्श से फर्श पर आने में देर नहीं लगती है. कुछ ऐसा ही हुआ क्रिकेट के उस खिलाड़ी के साथ जिसने पहले अपने खेल से नाम कमाया और फिर अपने ही नाम के बोझ तले गुमनामी में खो गया. वो शख्स हाथ में गेंद लेकर अपनी फिरकी से मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और द ग्रेट वॉल कहलाने वाले राहुल द्रविड़ को पवेलियन का रास्ता दिखा चुका था. लेकिन किस्मत और हालत ने उसे जो रास्ता दिखाया कि वो अपना ही पता भूल गया. हम बात कर रहे हैं पाकिस्तान के नामी स्पिनर रहे अरशद खान की. याद कीजिए 1990 का वो दौर जब अरशद खान की स्पिन के चर्चे होते थे. क्रिकेट की पिच पर बॉल को नचाने वाला अरशद खान आज ऑस्ट्रेलिया में उबर की कैब चलाने को मजबूर है.

क्रिकेट के ‘भगवान’ को कभी किया था आउट

इस शख्स की ज़िंदगी वो दिन कितना बड़ा रहा होगा जब उसने क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर को आउट किया होगा. लेकिन वक्त बदला तो फिर ऐसा कि ये खिलाड़ी ही खेल से आउट हो गया. इसे ही नियति का भी खेल कहते हैं. अरशद खान ने पाकिस्तान की तरफ से खेलते हुए फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 797 विकेट लिए.

अरशद खान ऑफ स्पिनर गेंदबाज़ थे. उन्होंने पाकिस्तान की वन डे टीम में साल 1993 में डेब्यू किया था. जबकि पाकिस्तान की तरफ से वो साल 1997 में टेस्ट टीम में शामिल हुए. अरशद खान ने 9 टेस्ट में 32 और 58 वनडे में 56 विकेट लिये हैं. जबकि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उन्होंने 601 विकेट लिये और लिस्ट ए में खेलते हुए 189 विकेट अपने नाम किये. अरशद ने टी20 में भी 7 विकेट लिए और अपने क्रिकेट करियर में कुल 797 विकेट लिये.

ऊबर कैब के ड्राइवर हैं अरशद खान

पाकिस्तान की टीम में अरशद खान लगातार अंदर-बाहर होते रहे. उनका करियर कभी एक समान नहीं रहा. वो 1997 से 2001 तक पाकिस्तानी टीम में रहे लेकिन बाद में उन्हें बाहर कर दिया गया. साल 2005 में उन्हें आखिरी बार मौका मिला लेकिन उसके बाद फिर वो पाकिस्तानी टीम में वापसी नहीं कर सके.जिसके बाद वो साल 2011 तक घरेलु क्रिकेट खेलते गए. लेकिन इस दौरान उनकी आर्थिक हालत बेहत तंगहाल हो गई. जिसके बाद वो पाकिस्तान छोड़कर ऑस्ट्रेलिया चले गए. वहां उन्होंने कैब चलाना शुरू कर दिया. अरशद खान के संघर्ष की नई कहानी पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर बड़ा सवाल है. खासतौर से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान खुद पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान रहे हैं. ऐसे में देखने वाली बात ये होगी कि अरशद के लिए पाकिस्तानी सरकार कैसी मदद करती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here