Purvanchal Expressway Launch: यूपी चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन, एक्सप्रेस-वे की खास बातें

0
17

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार 16 नवंबर को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन (PM Narendra Modi to inaugurate Purvanchal Expressway) कर दिया. इस दौरान वायुसेना के लड़ाकू विमानों जगुआर, मिराज-2000 और सुखोई ने हैरतअंगेज करतब दिखाए. प्रधानमंत्री सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस विमान में उड़ान भरकर सुल्तानपुर पहुंचे थे. लड़ाकू विमानों को आपात स्थिति में उतारने की सुविधा के लिए एक्सप्रेस-वे पर 3.2 किलोमीटर लंबी हवाई पट्टी का निर्माण किया गया है. लखनऊ से गाजीपुर को जोड़ने वाले 341 किलोमीटर लंबे इस एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के बाद राजधानी लखनऊ से पूर्वी यूपी सीधे जुड़ जाएगा.

पूर्वांचल पर बीजेपी का खास फोकस

देश की सत्ता का रास्ता उत्तर प्रदेश से होकर जाता है. सूबे की 33 फीसदी सीटें इसी इलाके की हैं. यूपी के 28 जिले पूर्वांचल में आते हैं, जिनमें कुल 164 विधानसभा सीटें हैं. इसीलिए तो यूपी को जीतने के लिए बीजेपी पूर्वांचल में अपना जोर लगा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पिछले एक महीने में यह तीसरा पूर्वांचल का दौरा है. एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल का इलाका राजधानी लखनऊ से ही नहीं बल्कि दिल्ली और पश्चिमी यूपी से सीधे जुड़ जाएगा. इससे पहले पीएम मोदी कुशीनगर में इंटरनेशनल एयरपोर्ट और सिद्धार्थनगर से यूपी में 9 मेडिकल कॉलेज की सौगात दे चुके हैं.

यूपी का सबसे लंबा एक्सप्रेस वे होगा

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे इस वक्त UP का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे है. ये 302 किलोमीटर लंबा है. लेकिन पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे राज्य का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे बन जाएगा. ये 341 किलोमीटर लंबा है. 341 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर लखनऊ से गाजीपुर के बीच यात्रा करने में अब 6 घंटे की जगह 3.5 घंटे का समय लगेगा. एक्सप्रेसवे की शुरुआत लखनऊ के चंदसराय गांव से होगी और गाजीपुर में राष्ट्रीय राजमार्ग 31 पर स्थित हैदरिया गांव में खत्म होगी.

इन शहरों को मिलेगा फायदा

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे योगी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में से एक है. इसके निर्माण में लगभग 22 हजार 495 करोड़ रुपए का खर्च आया है. ये एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश के 9 शहरों से होकर गुजरेगा. इममें लखनऊ, बाराबंकी, अयोध्या, अम्बेडकर नगर, अमेठी, सुल्तानपुर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर शामिल हैं. इस एक्सप्रेस-वे की वजह से वाराणसी, गोरखपुर, प्रयागराज जैसे जिलों को भी फायदा होगा.

यात्रियों की सुरक्षा के खास इंतजाम

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस-वे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉर्टी (UPEIDA) ने इस एक्सप्रेस-वे पर यात्रियों की सुरक्षा के लिए खास तैयारी की है. इसमें आवारा पशुओं को रोकने के लिए एडवांस ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम और फेंसिंग होगी. किसी इमरजेंसी या एक्सीडेंट के होने पर एम्बुलेंस भी मौजूद रहेगी. इसमें लाइफ सपोर्ट सिस्टम लगा होगा. इसके साथ ही जगह-जगह पेट्रोलिंग वाहन भी तैनात होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here