Courtesy-twitter
Courtesy-twitter

29 सितंबर 2008 में महाराष्ट्र के मालेगांव में एक ब्लास्ट में 6 लोगों की मौत हो गई थी और तकरीबन 80 लोग गंभीर रुप से घायल हुए थे. इस मामले की जांच कर रही एजेंसियों ने चार्जशीट में 14 लोगों के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल किए थे.

साध्वी प्रज्ञा पर क्या थे आरोप?

साध्वी प्रज्ञा पर मालेगांव ब्लास्ट के लिए आरडीएक्‍स देने और साजिश रचने का आरोप लगाया था. साध्वी प्रज्ञा और कर्नल प्रसाद पुरोहित को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था.

कांग्रेस पर साध्वी के गंभीर आरोप

लेकिन मालेगांव बलास्ट केस में जमानत से रिहा होने के बाद साध्वी प्रज्ञा ने कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाए थे. साध्वी ने कहा था कि कांग्रेस ने उन्हें जान से मारने की साजिश रची थी. वहीं साध्वी प्रज्ञा ने एटीएस पर प्रताडित करने का आरोप लगाया है. साध्वी प्रज्ञा ने आरोप लगाया एटीएस के पुरुष कर्मियों की वजह से ही वो शारीरिक रूप से बीमार हो गई हैं. 10 अक्टूबर 2008 को साध्वी को गिरफ्तार किया गया था.

साध्वी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने मालेगांव ब्लास्ट और अजमेर ब्लास्ट को लेकर भगवा आतंकवाद की फर्जी कहानी गढ़ी थी और उन्हें साजिश के तहत गिरफ्तार करवाया था. साध्वी ने साथ ही मुंबई हमले में शहीद तत्कालीन एटीएस चीफ हेमंत करकरे पर भी आरोप लगाए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here