दिल्ली (Delhi) में किसानों के प्रदर्शन (farmers protest) के चलते छूट गई ट्रेन तो नो टेंशन, मिलेगा पूरा रिफंड

26 जनवरी को दिल्ली में किसान आंदोलन (Farmers Protest) और ट्रैक्टर परेड (Tractor Parade) की वजह से कोहराम मचा रहा जिसकी वजह से भारतीय रेल से सफ़र कर अपने गंतव्य जाने वाले हज़ारों यात्री दिल्ली के रेलवे स्टेशन नहीं पहुंच सके और उनकी ट्रेनें छूट गईं तो ऐसे में उत्तरी रेलवे (Northern Railway) ने बड़ा फैसला लिया है कि...

0
182

उत्‍तर रेलवे (Northern Railway)  ने दिल्ली और एनसीआर के मुसाफिरों को एक बड़ी राहत दी है. जिन भी यात्रियों के 26 जनवरी के ट्रेन टिकट पहले से बुक थे और वो किसान आंदोलन (Farmers Protest) की वजह से स्टेशन समय से नहीं पहुंच सके और उनकी ट्रेन छूट गई तो उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है. भारतीय रेलवे ने ऐसे सभी यात्रियों की जेब का पूरा ध्यान रखते हुए ऐलान किया है कि यात्रियों को टिकट का पूरा रिफंड दिया जाएगा.

नॉर्दर्न रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी दीपक कुमार ने बताया क‍ि दिल्‍ली और एनसीआर में किसानों के आंदोलन और विरोध प्रदर्शन की वजह से लगभग सारे ही रास्ते बंद रहे. इस वजह से यात्री रेलवे स्‍टेशनों तक नहीं पहुंच पाए और उनकी ट्रेनें भी छूट गईं. ऐसे में उत्‍तर रेलवे ने अपने यात्रियों की परेशानी को देखते हुए यात्रियों के टिकट रिफंड की घोषणा की. रेलवे के CPRO ने बताया कि रेलवे रात 9 बजे तक की ट्रेनों को फुल रिफंड देगा.

CPRO ने कहा कि मंगलवार को दिल्‍ली क्षेत्र से रात 9 बजे तक जिस भी यात्री की ट्रेन इस प्रदर्शन की वजह से छूटी है, उनका नुकसान नहीं होने दिया जाएगा. वह टीडीआर और ई टिकट के लिए ई-टीडीआर के जरिये अपना पूरा रिफंड अप्‍लाई कर सकते हैं.

केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ 26 जनवरी को किसानों ने ट्रैक्‍टर परेड निकाली. इस दौरान दिल्‍ली और बॉर्डर इलाकों पर पुलिस और किसानों के बीच जमकर टकराव हुआ. जगह जगह जाम लगा जिसकी वजह से मंगलवार के दिन ट्रेन पकड़ने वाले स्टेशन तक पहुंच ही नहीं सके. भारी संख्या में किसानों की दिल्ली में मौजूदगी और सीमा पर टकराव की वजह से दिल्ली के तमाम रास्ते भी बंद थे. नतीजतन तमाम रेल यात्री दिल्ली में रेलवे स्टेशनों तक पहुंच नहीं सके. ऐसे में यात्रियों की मजबूरी को देखते हुए भारतीय रेल ने बड़ा फैसला लिया है. भले ही तमाम यात्री किसानों के विरोध की वजह से रेलवे स्टेशन नहीं पहुंच सके और उनकी ट्रेनें छूट गईं लेकिन सरकार ने उनकी जेब कटने से बचा लिया. अब यात्रियों को उनके टिकट का पक्का और पूरा रिफंड मिल सकेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here