इमरान के मुंह में ज़हर मणिशंकर अय्यर ने भरा

0
380
DAVOS/SWITZERLAND, 26JAN12 - Imran Khan, Chairman, Pakistan Tehreek-e-Insaf, Pakistan gestures during the session 'The Future of South Asia' at the Annual Meeting 2012 of the World Economic Forum in the congress center in Davos, Switzerland, January 26, 2012. Copyright by World Economic Forum swiss-image.ch/Photo by Remy Steinegger

15 मिनट के नियत समय की जगह इमरान खान 50 मिनट जहर उगलता रहे और उनके शब्दों में विष की दुर्गन्ध भरी थी -मुझे इमरान खान की शब्दावली सुन कर रत्ती भर भी संदेह नहीं है कि वो भाषण किसी पाकिस्तानी ने नहीं बल्कि कांग्रेस के नेता मणिशंकर अय्यर ने लिखा था.

मणिशंकर अय्यर के दिमाग की उपज थी जो इमरान के भाषण में झलक रही थी और वो एहसास मुझे RSS, हेडगेवार जी, गोलवलकर जी और सावरकर जी का जिक्र सुन कर हुआ –किसी पाकिस्तानी से ज्यादा इन सब के लिए नफरत कांग्रेस और खासकर अय्यर के दिमाग में भरी है.

कांग्रेस ही संघ को हिटलर की नाजी पार्टी से जोड़ते फिरते हैं और यही काम इमरान खान ने किया –
इमरान खान ने हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम ले कर कहा कि – ये नरेंद्र मोदी RSS का लाइफ मेम्बर है.

इमरान खान मोदी को RSS का लाइफ मेम्बर कहते हुए भूल गये कि वो ऐसा कह कर संघ को अंतर्राष्ट्रीय स्तर में सभी का कल्याण करने वाला संगठन बता रहे हैं –संघ का लाइफ मेम्बर हैं मोदी, तभी तो वे जनकल्याण से जग कल्याण की बात कर रहे थे जबकि इमरान विश्व में एटम बम चलाने की बात कर रहे थे.

लगता है इमरान खान को पाकिस्तान के अलग होने से 10 दिन पहले 5 अगस्त, 1947 को करांची में 1 लाख लोगों में चेतना भरने वाला गुरुजी (गोलवलकर) का भाषण आज तक चुभ रहा है, जब पूरा सिंधी समाज संघ के साथ खड़ा हो गया था और आज वो ही सिंध पाकिस्तान से मुक्ति की मांग कर रहा है.

–अरे मंदबुद्धि इमरान खान, संघ तो हरदम भारत पर कुर्बान होने को तैयार रहता है –संघ और भारत में कोई अंतर है ही नहीं –अब तो सपने देखने शुरू कर दो कि पाकिस्तान के हर शहर में संघ की शाखाएं लगनी शुरू हो जाएँगी.

इमरान खान ने अपने भाषण में बार बार कांग्रेस का जिक्र कर और अपनी बात सही साबित करने के लिए कांग्रेस और उसके नेताओं का सहारा ले कर बता दिया कांग्रेस पाकिस्तान की ही पर्यायवाची है, कांग्रेस अब पूरी तरह पाकिस्तानी नेशनल कांग्रेस बन चुकी है – पाकिस्तान और कांग्रेस एक दूसरे के बिना जी नहीं सकते –कांग्रेस और उसके नेता अब अधिकारिक तौर पर पाकिस्तान के “स्लीपर सेल” बन कर काम कर रहे हैं.

इमरान खान ने 50 मिनट जिस तरह बर्बाद किये, उसे देख कर ऐसा लगता है जैसे स्कूल में मास्टर जी ने किसी नालायक छात्र को कोई निबंध सुनाने को खड़ा कर दिया हो और उसे कुछ याद न हो –तब वो बस उलूल-जुलूल बोलने लग जाता है और अपनी बेकार बातों को बार-बार दुहराता रहता है.

इमरान के 50 मिनट के विधवा विलाप को भारत की नारीशक्ति विदिशा मैत्रा ने 5 मिनट में ऐसा शांत किया जैसे सही मायनों में इमरान का वध कर दिया हो –क्या नहीं कहा पाकिस्तान को, 1971 का अपनों का नरसंहार याद करा दिया, आतंक की फैक्ट्री चलाने वाला देश कह दिया –आतंकियों को पेन्शन देने वाला मुल्क कह दिया और ब्लैक लिस्ट होने की कगार पर खड़ा मुल्क भी बता दिया.

ऐसे साफ़ साफ़ शब्दों में धुलाई के बाद तो इमरान को ख़ुदकुशी कर लेनी चाहिए –वैसे ख़ुदकुशी मणिशंकर अय्यर को भी कर लेनी चाहिए क्यूंकि भाषण तो उन्होंने ही लिख कर दिया था.

(सुभाष चन्द्र)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here