चीन ने आतंक का साथ दे कर घी के दिए जलाये

पहले केजरीवाल के घर में और अब राहुल गांधी के घर में..

0
662

चीन का असली चेहरा अब खुल कर आ गया है सारी दुनिया के सामने

आपको याद होगा जब न्यूक्लियर सपलायर ग्रुप में चीन ने भारत के सदस्य बनने में टांग अड़ाई थी, उस दिन नक्सली केजरीवाल की बांछें खिल गई थी और आप पार्टी ने अपने ऑफिस के बाहर
ढोल नगाड़े बजा कर जश्न मनाया था जैसे केजरीवाल के घर (आप) में घी के दिये जला दिए हों चीन ने.

आज मसूद अज़हर को अंतर्राष्टीय आतंकी घोषित करने के प्रस्ताव पर चीन ने वीटो करके राहुल गाँधी के घर में घी के दिये जला दिए. राहुल गाँधी की ख़ुशी की कोई सीमा नहीं है ये देख कर कि चीन ने मोदी को नीचा दिखा दिया.

राहुल के मसूद अज़हर “जी” को तो चीन ने बचाना ही था क्यूंकि राहुल और मुस्लिम कांग्रेस का मसूद उनके घर का ही सदस्य जो है जिसके अड्डे बालाकोट में स्ट्राइक के सबूत मांग रहे हैं राहुल और उसके गुलाम –आज वो सबूत चीन ने भी मांग लिए.

राहुल गाँधी अगर ये समझते हैं कि चीन की हरकत से मोदी की हार हुई है तो वो ये गलत समझते हैं –सच्चाई तो ये है चीन ने अपने आप को बेनकाब कर लिया है और दुनियां को दिखा दिया कि वो
आतंक के साथ खड़ा है -चीन का इतिहास तो खुद ही खून से रंगा हुआ है -चीन ने अपने ही 5 – 7 करोड़ लोगों को कथित क्रांति के नाम पर मौत के घाट उतार दिया था.

एक समय था जब अमेरिका और पश्चिमी देश भी आतंकवाद के दानव को पहचानने से मना करते थे लेकिन 9/11 के बाद ही उन्हें समझ आया कि आतंकवाद क्या होता है.

चीन भी अभी ये नहीं समझ रहा और उसे आतंकवाद को समझने के लिए आतंकी हमले झेलने पड़ेंगे लेकिन उस समय विश्व का कोई देश उसके साथ नहीं होगा जैसे वो आज विश्व के साथ नहीं है.

चीन की सबसे बड़ी दुखती रग ताइवान है –विश्व के देशों को अब वन चाइना पालिसी को दरकिनार करके ताइवान को मान्यता दे देनी चाहिए.

राहुल गाँधी, चीन और पाकिस्तान के गुप्त गठजोड़ का नतीजा है जो आज चीन ने दिखाया है –चीन की इस अपार शक्ति का जिम्मेदार केवल जवाहरलाल नेहरू हैं जिन्होंने सुरक्षा परिषद की सीट भारत के लिए ठुकरा कर चीन को दे दी थी –कितने कलेश भुगतेगा भारत नेहरू की बेवकूफियों की वजह से!

लेकिन राहुल, पाकिस्तान और चीन को ये याद रखना चाहिए कि सुरक्षा परिषद में तो चीन ने मसूद अज़हर पर वीटो लगा दिया मगर उसे मारने के लिए कोई वीटो नहीं लगा सकता, जैसे ओसामा जी को जहन्नुम भेजा गया था -इन तीनों को मोदी के शब्द याद रखने चाहियें कि आतंकवादियों को उनके घर में घुस कर मारेंगे!

(सुभाष चन्द्र)
14/03/2019

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here