ये है हाल : कांग्रेस प्रमुख ने कहा पार्टी गई तेल लेने

0
699

मध्य प्रदेश चुनाव में लगता है कांग्रेस ने बिना जंग लाडे ही हार मान ली है. प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष की बात माने तो यही लगता है. जीतू पटवारी लोगों से कह रहे हैं कि पार्टी भाड़ में जाए, मुझे आप लोग मत भूलना, बस.

जीतू पटवारी अपने विधानसभा क्षेत्र में लोगों से मुखातिब थे. ये उनका स्टाइल है कि अपने क्षेत्र में वो लोगों से इसी तरह अनौपचारिक हो कर मिलते हैं. वे जनता से सीधा संवाद करने में विशवास रखते हैं. और उनके ऐसे अजीबोगरीब बयान पहले भी आ चुके हैं.

लेकिन प्रदेश कांग्रेस प्रमुख का यह बयान, इस दौर में जबकि चुनाव सर पर है, अजीब सा नहीं माना जा सकता. इसमें कोई अनौपचारिकता भी नहीं है. इसमें भवितव्यता का शुद्ध पूर्वानुमान है. इसका अर्थ है कि जीतू पटवारी ने कह दिया है कि प्रदेश में पार्टी हारे तो हारे, भाई लोग आप मुझे ज़रूर जीता देना !!

राउ विधानसभा क्षेत्र से अपने लोगों से जीतू ने सीधी बात की है और सादे शब्दों में अर्थपूर्ण बात की है. प्रदेश कांग्रेस के इरादे इससे साफ़ ज़ाहिर होते हैं भले ही कांग्रेस आलाकमान मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के सियासी रण में सत्ता वापसी का पूरा जोर लगा ले, ज़मीनी हकीकत और भी ज़्यादा ज़ोरदार है. यहां तो ऐसा लग रहा है कि अस्तित्व के संघर्ष में पार्टी सच में तेल लेने चली गई है उम्मीदवार अपनी अपने जमानत बचाने में लगे हैं. क्योंकि यही सच है, उम्मीदवारों का जीतना तो दुष्कर है किन्तु प्रयास करें तो शायद ज़मानत बच जाए – ऐसा कांग्रेस पार्टी में अंदरखाने के लोग ही मान रहे हैं, पत्रकार नहीं कह रहे.

शायद जीतू पटवारी को नहीं पता था कि उनकी जुबान फिसलने की आवाज़ कितनी दूर तक जायेगी. बात निकली थी तो दूर तलाक जाना ही था. बात निकलते हुए हाईकमान तक पहुंची और जब जीतू से स्पष्टीकरण मांगे जाने की आशंका बन गई तो उनका नया बयान आ गया. इस बार उन्होंने कहा कि उनके कथन को गलत तरीके से पेश किया गया है. उनका मतलब वो नहीं था जो प्रचारित किया गया है..

खैर, कथन सही तरीके से पेश हुआ हो या गलत तरीके से. इस बात ने एक बात तो साफ़ कर दी कि मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में अगर कांग्रेस की बात करें तो पार्टी से ज्यादा पार्टी के इरादे कमज़ोर नज़र आ रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here