पूछता है देश: किस आधार पर मां-बेटे भड़का रहे हैं जनता को?

पीएम मनमोहन सिंह ने डीजल की मूल्य-वृद्धि व सब्सिडीयुक्त रसोई गैस की सीमा सीमित करने के फैसले के समर्थन में कहा था-"पैसे पेड़ पर नहीं उगते"!..

0
173
मोदी ने ऐसा पेड़ लगा दिया, जिस पर पैसे उगते हैं – तभी कांग्रेसी मां-बेटे भड़का रहे हैं देश की जनता को, मांग कर रहे हैं कि 135 करोड़ को फ्री वैक्सीन दो !
आपको याद होगा कभी पुराने पीएम मनमोहन सिंह ने डीजल की कीमतों में वृद्धि तथा सब्सिडीयुक्त रसोई गैस की सीमा सीमित किए जाने के फैसले का बचाव करते हुए कहा था -“पैसे पेड़ पर नहीं उगते”!
जब कोरोना वैक्सीन आई तब कांग्रेस और विपक्ष ने वैक्सीन को ख़ारिज कर दिया और लोगों को वैक्सीन ना लगवाने के लिए प्रेरित किया –और यही वजह है कि बहुत लोग वैक्सीन लगवाने के लिए आगे नहीं आये.
दरअसल कोरोना ने कांग्रेस का अपना वो पेड़ कटवा दिया जिसे उसने लगवाया था पार्टी के लिए जिस पर पैसे उगते थे जिसके सहारे 10 साल में 12 लाख करोड़ का घपला कर गए.
कांग्रेस सरकार होती तो कोरोना काल में, तो ना पीपीइ किट बनती और न कोई मास्क बनते –सब कुछ विदेशों से आता मोटे-मोटे कमीशन पर और इनके नेताओं के घर भरते.
इसी तरह कांग्रेस ना Covaxin को बाजार में आने देती और ना ही कभी Covishiled को और आने भी देती तो मोटा माल खा कर.
दूसरी तरफ फ़ाइज़र और मॉडेर्ना जैसी विदेशी कंपनियों की वैक्सीन चलती भारत के बाजार में जिसकी कीमत हज़ारों से कम ना होती -फिर देश की कोई अदालत कीमत के लिए कोई सुनवाई नहीं करती जैसे आज कर रही है.
लेकिन कांग्रेस और उसके चेले-चपाटों ने अपना रंग दिखा ही दिया जो इनके राज्यों ने ऑक्सीजन और रेमडेसिविर जैसी अपने यहाँ से दवाएं बाजार से गायब कर दीं और कालाबाज़ारी से कमाई करनी शुरू कर दी.
कांग्रेस तो प्याज जैसी चीज की प्रचुर मात्रा होने पर भी उसे गायब कर देती थी और ब्लैक कर देती थी तो कोरोना की दवाएं गायब करना तो कोई बड़ी बात नहीं है.
ये कांग्रेस रसोई गैस के सिलिन्डरों के लिए लाइन लगवा देती थी और आज ढोल पीट रही है कि हमारी सरकार होती तो सबको फ्री में ऑक्सीजन दी जाती.
जो वैक्सीन इन्हे पसंद नहीं थी और जिसे न लगवाने के लिए लोगों को प्रेरित करते रहे, आज माँ-बेटे उसी वैक्सीन को सभी को फ्री में देने की मांग कर रहे हैं.
इन्हे क्या अंदाजा है कि 135 करोड़ लोगों को फ्री वैक्सीन देने में कितना पैसा खर्च होगा. एक तरफ राहुल कहते हैं कि मोदी ने आर्थिक हालत ख़राब कर दी देश की और दूसरी तरफ सबके लिए फ्री वैक्सीन मांग रहे हैं.
माँ-बेटे को लगता है मोदी ने कोई ऐसा पेड़ लगवा लिया है जिस पर पैसे उगते हैं –ये तो मोदी की बहुत बड़ी उपलब्धि है -मगर ये माँ-बेटे जनता को भड़काने में सफल नहीं होंगे.
(सुभाष चन्द्र)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here