राम मंदिर : आज से प्रारम्भ ‘अयोध्या चलो’ रैली

0
547

2019 करीब है और लोकसभा चुनाव दूर नहीं हैं. इस बार चुनाव के मैदान मे यदि राम मंदिर भजपा के एजेंडे में नहीं होगा तो मोदी के अतिरिक्त उसके पास दूसरा कोई चुनावी अस्त्र नहीं है. देश के बहुसंख्यक हिन्दू के लिए जिस तरह मंदिर एक महत्वपूर्ण विषय है उसी तरह भाजपा की राजनीतिक विवशता के लिये भी यह एक अपरिहार्य विषय है जिसे अधिक समय तक टाला नहीं जा सकता.

किन्तु राम मंदिर क्या इस बार सरकार बनाएगी? या हिंदूवादी संगठन उसके लिए पर्यटन करेंगे? यदि उत्तर द्वितीय अर्धांश में अंतर्निहित है तो समझिये तैयारी शुरू हो गई है. राम मंदिर निर्माण के लिए अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने 21 अक्टूबर से अयोध्या चलो रैली का आह्वान किया है.

पूर्व दिग्गज हिंदूवादी नेता की तो पहले से ही भाजपा से तकरार चल रही है. तुगाड़िया भाजपा के विरुद्ध कठोर होते हुए कहते हैं कि ‘भाजपा अब हिंदुओं की पार्टी नहीं रह गई है, उसे अब मंदिर निर्माण से भी कुछ लेना-देना नहीं है, वह मुसलमानों को रिझाने में जुटी है.

उन्होंने भाजपा सरकार को सचेत करने वाले स्वर में कहा कि भारत का हिंदू भविष्य में कभी भी भाजपा को वोट नहीं देंगा. यदि सचमुच भाजपा सरकार इस स्थिति से बचना चाहती है तो उसे मंदिर निर्माण में सहयोग करना ही होगा.

(अर्चना शैरी)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here