सांस्कृतिक कुंभ – कला उत्सव : दिवस- 47 : 1 मार्च 2019

0
954

प्रयागराज कुम्भ 2019 का आज सैंतालिसवां दिन है. श्रद्धालु आगंतुक जहां कुम्भ की भव्यता देख रहे हैं वहीं वह इसकी दिव्यता से भी अभिभूत हैं.

प्रयागराज में कुम्भ के शुभ अवसर पर संगम स्नान उनके जीवन की उच्चतम धार्मिक उपलब्धि से कम नहीं है. अपने अंतिम दौर में भी कुम्भ मेले का अभूतपूर्व सौंदर्य अक्षुण्ण है और उत्तर प्रदेश संस्कृति विभाग के विशेष प्रयत्नों से प्रयागराज शहर और कुम्भ परिसर में तैयार किये गए सांस्कृतिक मंचों ने भी कुम्भ को अभूतपूर्व बनाया है. रोज़ की तरह ही आज भी कुम्भ परिसर के मंचों पर चल रही सांस्कृतिक गतिविधियों ने दर्शकों को सराहना अर्जित की.

सेक्टर 4 स्थित अक्षयवट मंच पर लखनऊ की कलाकार अंकिता वाजपेयी और स्वरा त्रिपाठी ने मनमोहक नृत्य प्रस्तुत किया जिसके बाद लखनऊ के ही गायक परमहंस चौरसिया ने मधुर भजन प्रस्तुत किया. लखनऊ से ही आईं कलाकार दीपिका ने लोकनृत्य की प्रस्तुति दी. इसके बाद वाराणसी के गायक राजन तिवारी ने भोजपुरी लोक गीत सुनाये. भोजपुरी लोक गायन के बाद लखनऊ की गायिका मंजूषा मिश्रा ने उपशास्त्रीय गायन प्रस्तुत किया.

सेक्टर 6 स्थित भारद्वाज मंच पर आगरा के महावीर चाहर नई रसिया गायन का कार्यक्रम प्रस्तुत किया जिसके जवाब में वाराणसी के सुजीत तिवारी ने सूफी गीत प्रस्तुत किये. प्रयागराज के कलाकार रमाकांत भारती ने लोकनृत्य प्रस्तुत किया. लखनऊ का नटराज कला केंद्र नृत्य व गायन का कार्यक्रम प्रस्तुत किया. लखनऊ की गायिका सरोज खुल्बे और गोरखपुर के गायक नेत्र सिंह ने दर्शकों को मीठे भजन सुना कर आनंदित किया. और अंत में इस मंच पर होगी एक गायन और वादन की विशेष सांगीतिक प्रस्तुति जिसे प्रस्तुत किया दिल्ली के संगीतयज्ञ विश्वजीत राय चौधुरी ने.

सेक्टर 17 के यमुना मंच पर लखनऊ की कलाकार सुनीता वर्मा ने लोकनृत्य प्रस्तुत किया जिसके जवाब में कला एवं संस्कृति मंत्रालय अरुणाचल प्रदेश के कलाकारों ने अरुणाचल प्रदेश के लोक नृत्य की मनोहर प्रस्तुति दी. गोरखपुर की प्रतिमा श्रीवास्तव ने गायन प्रस्तुत किया तो लखनऊ की वन्दना गुप्ता ने दर्शकों को लोक गीत सुनाये. देवरिया के गायक मकसूदन पांडेय ने भक्ति गीत सुनाये तो गोरखपुर की चंदना मुखर्जी ने सुगम संगीत का कार्यक्रम प्रस्तुत किया. सबसे विशेष प्रस्तुति के तौर पर इस मंच पर एक सशक्त आल्हा गायन की प्रस्तुति हुई जिसे प्रस्तुत किया उन्नाव के गायक बृजपाल सिंह ने.

सेक्टर 13 स्थित सरस्वती मंच पर गोंडा की शैफाली पांडेय ने भजन और लोक गीत प्रस्तुत किये तो सागर की गायिका मिथिलेश कुमारी ने बधाई गीत सुनाये. आजमगढ़ के अजय मिश्रा ने भोजपुरी लोक गायन प्रस्तुत किया तो प्रयागराज के जय पांडेय ने भी लोक गीतों की मधुर प्रस्तुति दी. लखनऊ के नटराज कला केंद्र ने नृत्य व गायन का कार्यक्रम प्रस्तुत किया तो उसके बाद इस मंच का सबसे विशेष कार्यक्रम प्रस्तुत हुआ जो था एक विशेष पपेट शो जिसे पेश किया बंगाल से आई लोक-कलाकार विदिशा विश्वास ने.

प्रयागराज शहर के मंचों पर भी आज चल रही सांस्कृतिक गतिविधियों ने दर्शकों को आल्हादित किया. किला चौराहे, अक्षयवट मंच और भारद्वाज मंच के निकट स्थित सांस्कृतिक मंचों पर आज लखनऊ की कलाकार अंशिका त्यागी ने लोकनृत्य का कार्यक्रम प्रस्तुत किया तो उनके बाद लखनऊ के ही रंगकला सेवा संस्थान ने दर्शकों की खूब वाहवाही लूटी. केपी इंटर कॉलेज कला-मंच, लेप्रोसी मिशन चौराहे और सरस्वती घाट -नैनी ब्रिज के निकट स्थित सांस्कृतिक मंचों पर जहां हरदोई के नाटककार नागपाल ने नाटक का मंचन किया वहीं बिहार के पंकज कुमार ने मैजिक शो दिखा कर दर्शकों का मनोरंजन किया.

संस्कृति ग्राम चौराहे, अरैल सेक्टर 19 और वल्लभाचार्य मोड़ के निकट स्थित सांस्कृतिक मंचों पर इटावा की कलाकार रीना ने लोकनृत्य प्रस्तुत किया तो विकास कल्चरल एंड वेलफेयर सोसाइटी ने नाटक का मंचन करके दर्शकों की सराहना अर्जित की. बालसन चौराहे, इंद्रमूर्ति चौराहे और बैंक चौराहे (प्रयाग स्टेशन) के निकट स्थित सांस्कृतिक मंचों पर प्रयागराज के प्रयाग सांस्कृतिक दल ने नौटंकी का मंचन किया तो उसके जवाब में लखनऊ के गायक अशोक कुमार सोनकर ने अपने सुरीले लोकगायन से समा बाँध दिया.

सुभाष चौराहे, सिविल लाइंस बस स्टॉप और पत्थर वाले चर्च के निकट स्थित सांस्कृतिक मंचों पर लखनऊ के शक्ति कुमार मिश्रा ने नाटक का मंचन किया तो उसके बाद उन्नाव की गायिका शालिनी ने आल्हा गायन की ज़ोरदार प्रस्तुति से खूब तालियां बटोरीं. विश्वविद्यालय तिराहे और राजापुर ट्रैफिक चौराहे के निकट स्थित सांस्कृतिक मंचों पर वाराणसी के सीताराम यादव ने लोक गीत प्रस्तुत किये तो उनके जवाब में प्रयागराज की राजनाथ एंड पार्टी ने लोक गायन की मधुर प्रस्तुति से दर्शकों का दिल जीत लिया. हीरालाल हलवाई चौराहे, हाथी पार्क और प्रयागराज जंक्शन के निकट स्थित सांस्कृतिक मंचों पर बरेली के दिनेश कुमार ने नाटक का मंचन किया तो वहीं बांदा की जादूगर बी. गोपाल एंड पार्टी ने सुन्दर लोकनृत्य की प्रस्तुति से दर्शकों का मन मोह लिया. प्रयागराज से न्यूज़ इन्डिया ग्लोबल के लिये पारिजात त्रिपाठी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here