रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज: भारत फाइनल में पहुंचा, Sachin Tendulkar और Yuvraj Singh छा गये

यादगार रहा आज का ये मैच जो था सेमीफाइनल मैच भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच जिसमें वेस्टइंडीज़ के जबड़े से छीन ली भारत ने जीत..

0
182
रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज का पहला सेमीफाइनल खेला गया आज. भारत का मुकाबला था वेस्टइंडीज़ के साथ. इंडिया लेजेंड के कप्तान सचिन तेंदुलकर ने हमेशा की तरह आज भी टॉस जीता और बल्लेबाजी चुनी. इस मैच में भारत ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए वेस्टइन्डीज़ के सामने 219 रनों का विशाल टारगेट रखा और इस तरह इस स्कोर ने भारत की जीत को पहले ही पक्का कर दिया था.

जय वीरू खेले जमकर जोरदार

वीरू याने वीरेंद्र सहवाग के साथ जय बन कर भारत के अजेय बल्लेबाज़ सचिन तेंदुलकर मैदान में उतरे और दोनों ने जबरदस्त तरीके से मैच का श्रीगणेश किया. सचिन ने शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए चौक्के भी लगाये और छक्के भी. सहवाग ने अपनी शैली में जोरदार आगाज़ किया और मैच की पहली गेंद पर ही चौक्का मार कर पारी की शुरुआत की. एक बड़े शॉट के प्रयास में वीरू कैच आउट हुए तो तेन्दुलकर 63 रनों पर दुर्भाग्यपूर्ण ढंग से आउट हुए.

फिर बरसे युवराज

युवराज से जूनियर बल्लेबाज यूसुफ पठान को सचिन ने पहले उतारा और सचिन के आउट होने के बाद युवराज मैदान में उतरे. युवराज ने अपने रंग में आने के लिये ज्यादा देर नहीं लगाई और उसके बाद मैदान में उनके बल्ले से मारे गये गगनभेदी छक्कों ने दर्शकों को झूमने के लिये मजबूर कर दिया और भारत के स्कोर को युवी और यूसुफ ने मिलकर २०० रनों के पार पहुंचा दिया. उसके बाद 219 रनों पर भारत ने अपने बीस ओवर्स पूरे किये जिसमें युवराज सिंह 6 छक्कों और 1 चौके के साथ 49 रन बना कर पैवेलियन वापस आये.

गेन्दबाजी और क्षेत्ररक्षण ठीक नहीं रहा

सीधे शब्दों में कहें तो गेन्दबाजी बहुत अच्छी नहीं रही और क्षेत्ररक्षण तो भारत का बहुत ही खराब रहा. कई कैच छूटे औऱ कई चौके नहीं रुक पाये. वेस्टइन्डियन ओपनर स्मिथ ने तेन्दुलकर की तरह अपनी टीम के लिये जोरदार 63 रनों का योगदान दिया तो देवनारायण ने युवराज सिंह की तरह 59 शानदार रन बनाये. एक जमाने के सुपरस्टार बल्लेबाज लारा जब तक क्रीज में रहे लगता रहा कि भारत मैच हार जायेगा.

विनय कुमार और इरफान ने किया कमाल

और लगभग भारत के हाथ से वेस्टइन्डीज ने मैच छीन भी लिया था किन्तु वो वक्त जब भारत की टीम को अपने गेन्दबाज से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की न केवल अपेक्षा थी बल्कि अनिवार्यता भी थी, 19वें ओवर में जब वेस्ट इन्डीज को 12 बाल्स में 19 रन बनाने थे, विनय कुमार ने शानदार गेंदबाजी का प्रदर्शन किया और दो विकेट लेकर वेस्टइन्डीज की राह मुश्किल कर दी क्योंकि उन्होंने दो डॉट गेन्दें फेंकी और कुल चार रन दिये. फिर अन्तिम ओवर में वेस्ट इन्डीज को 15 रन बनाने थे और सामने थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here