घर में Corona किलेबंदी: वायरस से परिवार को पहले ही बचा लीजिये (पार्ट-2)

आज कोरोना को लेकर घर से बाहर सावधानियों पर जोर ज़्यादा हैै, घर में कोरोना-सेफ्टी पर ध्यान कम है सबका..ऐसे में परिवार को घर पर कोरोना के वार से ऐसे बचाएं..

0
155
जान अगर कीमती है तो जान लगा दीजिये अपनी जान बचाने में. ये एक गंभीर बात है और इसकी गंभीरता को आपने तब समझा होगा जब अपने किसी को फोन किया होगा और उसने अपने किसी के उठ जाने की खबर सुनाई होगी या फिर आपने सामने या टीवी पर अस्पताल में या शमशान घाट पर किसी जाने वाले के घर वालों को बिलखते देखा होगा. अगर ऐसा है तो आप कोरोना को हल्के में नहीं लेंगे.

कोरोना के विरुद्ध चक्रव्यूह

ये है किलेबंदी और आप इसे कह सकते हैं चक्रव्यूह. विशेष शत्रु पर विजय हेतु विशेष रणनीति का नाम चक्रव्यूह होता है. कोरोना के विरुद्ध युद्ध में प्राणरक्षा हेतु आपको चक्रव्यूह बनाना होगा जो सुबह से लेकर रात सोने तक आपकी इस वायरस से रक्षा का उत्तरदायित्व वहन करेगा.

सुबह क्या करना है

सुबह उठ कर शुरुआत करनी है प्राणायाम से. आधा घंटा जम कर कपाल भाति, अनुलोम विलोम और भस्त्रिका प्राणायाम करने हैं आपको जो आपको कोरोना वायरस से पक्की तौर पर बचाएगा. इसके आलावा आपको गिलोय का काढ़ा बनाना है और आधा कप पीना है जिसके बाद एक गिलास गर्म पानी में एक चुटकी हल्दी डाल कर पीना है. इसके बाद ही आप चाय पियें.

दोपहर में क्या करना है

दोपहर में आपको लंच के साथ कच्चे प्याज का सलाद खाना है. बहुत अच्छा हो यदि दो तीन कली लहसुन की भी छील कर खाने के साथ कच्ची खा लें. फ्रिज का पानी और फ्रिज में रखी ठंडी चीज़ें खाने से बचें. पीने के पानी में अर्थात घड़े में या पानी की बकेट में थोड़ी सी फिटकरी डाल कर चार बार घुमा लें और यही पानी पीने के काम में लें. दिन में कम से कम एक बार आपको भाप लेनी है और वह भाप लेने का कार्य वह व्यक्ति करे जो प्रायः घर से बाहर जाता हो -ऑफिस या बाज़ार.

शाम को क्या करना है

शाम को डिनर के बाद बाहर टहलने जाने से बचें और या तो घर की भीतर टहलें या छत पर किन्तु बाहर जा कर भ्रमण करने का खतरा न उठायें. डिनर जल्दी करना शुरू करें और हलके डिनर कि आदत भी डालें क्योंकि हेवी और लेट डिनर से होने वाली कोई भी पेट की समस्या आपको अगर अस्पताल ले जायेगी तो कोरोना काल में ये विलासिता आपको रास नहीं आएगी.

सोने के पहले क्या करना है

खाने के बाद सोने के पहले हल्दी वाला दूध लें और उसमें अगर शिलाजीत की कुछ बूंदे डाल लें तो अति उत्तम साथ में एक चम्मच च्यवनप्राश आपके लिए परफेक्ट इम्युनिटी बूस्टर का काम करेगा. एक सबसे जरूरी काम आपको जो करना है वो ये कि सोने से पहले अपने सोने वाले कमरे में गाय के घी का एक दिया जलाना है जिसमे आधा ढक्क्न पतंजलि दिव्य धारा की बूँदें डालनी हैं. ये दिया रात भर आपके लिए ऑक्सीजन की पूर्ती करेगा आपके शयन कक्ष में.

दिन भर क्या करना है

बहुत अच्छा हो अगर आप दिन भर घर में उस कमरे में जहां सब लोग बैठते हों -जैसे ड्राइंग रूम / लिविंग रूम / टीवी रूम – वहां पर आप गाय के घी का एक बड़ा दीपक जला कर रखें जो अखंड रूप से जलता रहे. दिन में एक बार सुबह और एक बार रात को दिव्य धारा का आधा ढक्क्न दिव्य धारा डालना न भूलें. दिन भर आपको इस दिए से ऑक्सीजन की पूर्ति तो होगी ही आपके घर के भीतर के वातावरण में कोरोना के ही नहीं अपितु हर तरह के कीटाणु को मारने का कार्य भी यह दीपक आपके लिए करेगा. और हां, अपने ड्राइंग रूम की सेन्टर टेबल पर लौंग भरी एक छोटी बॉटल जरूर रख लें. दिन में सुबह शाम एक एक लौंग मुह में डाल कर धीरे धीरे चूसते रहें. बस हो गई तैयारी आपकी पूरी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here