कॉल सेन्टर वालों पर गुस्सा न निकालें: कारण पता हो तो भी यहाँ पढ़ें

कॉल सेन्टर वाले भी आपकी तरह अपना काम कर रहे हैं, और अगर आप उन्हें डाटते हैं तो आप एक बुरे बॉस का बुरा फर्ज निभा रहे हैं..

1
89
जिस तरह आपको बुरा बर्ताव पसन्द नहीं, कॉल सेन्टर से कॉल करने वाले को भी कैसे पसन्द आ सकता है आपके द्वारा किया गया बुरा बर्ताव?. किन्तु वे विवश हैं आपके बुरे बर्ताव को सहने के लिये – पर आप विवश नहीं हैं. ऐसे में अपनेआप से प्रश्न कीजिये क्या ये मानवीय व्यवहार है आपका?

क्या आपको बुरा बॉस पसन्द है?

जिस तरह एक बुरा बॉस आपको पसन्द नहीं, उनको भी पसन्द नहीं हो सकता है. जैसे आप काम करके अपने परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं, वैसे ही वे भी अपनी जगह अपनी आजीविका चला रहे हैं. तो वे आपसे भिन्न कैसे हुए?

परिस्थिति का नाजायज फायदा न लें

जब कॉल सेन्टर से आये किसी कॉल पर आप भड़क जाते हैं तो वहाँ पर आप बिलकुल वही कर रहे हैं जो आपका बुरा बॉस आपके साथ करता है अर्थात वह भी परिस्थिति का लाभ लेता है और बॉस होने का नाजायज फायदा उठाते हुए आपसे बुरी तरह से बात करता है. आप भी बिलकुल यही कर रहे हैं.

असहायता का लाभ लेना अनुचित

आपका बॉस जानता है कि उसके द्वारा आपके साथ किये जा रहे बुरे बर्ताव पर आप उसके विरुद्ध कुछ नहीं कर सकते – बिलकुल यही बात आप भी जानते हैं जब किसी कॉल सेन्टर वाले का फोन आपके पास आता है.
निम्नलिखति तीन कारणों को ध्यान में रख कर पर आपके द्वारा बुरा बर्ताव किया जाना अनुचित है

प्रथम कारण

पहला कारण तो ये कि आपके साथ बुरा बर्ताव नहीं हो रहा है अतएव आपका भी अधिकार नहीं है कि आप कॉल सेन्टर एक्जीक्यूटिव के साथ बुरा बर्ताव करें.

द्वितीय कारण

दूसरा ये कि वह वही कर रहा है जो उसे करने के लिये कहा गया है – अर्थात वह अपनी ड्यूटी कर रहा है उसे आपको तंग करके या आपको डिस्टर्ब करके आनंद प्राप्त नहीं हो रहा है -वह अपना कार्य कर रहा है.

तृतीय कारण

तीसरा ये कि वह आपसे निहायत ही सज्जनता से पेश आ रहा है उसकी भाषा में और उसके शब्दों में आपको वो नम्रता सुनाई देगी जो जीवन में अन्यत्र आपको कभी कहीं नहीं देखने को मिलेगी – ऐसे में भी सज्जनता का प्रत्युत्तर यदि आप दुर्जनता से देते हैं – तो समझ लीजिये आप क्या कर रहे हैं!

आप बस इतना करें

आप व्यस्त हैं तो शांति के साथ उनको बता दें कि अभी बात नहीं हो पायेगी. यदि वह आपसे अगली बार का समय माँगे तो रुष्ट न हों – समय दे सकते हों तो दे दें अन्यथा स्पष्ट तौर पर कह दें कि समय नहीं दे पाऊँगा. कॉल सेन्टर वाले पर क्रोध करके उसको बुरा भला कहना उचित नहीं – जिस तरह से शांतिपूर्ण ढंग से वह अपनी बात आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहा है – आप भी अपनी बात वैसे ही उसे कह दें – वह बुरा नहीं मानेगा क्योंकि उसने अपना काम किया और आपने अपना.

आपको पता तो होगा ही

कि कॉल सेन्टर वाले अपनी तरफ से कॉल काट नहीं सकते -ऐसा करना उनकी कार्य-व्यवहारिका में अभद्रता मानी जाती है. अतएव कॉल आपको ही काटनी है किन्तु कॉल काटते समय आप उसे बता दें तो यह बेहतर होगा जो आपकी सज्जनता का परिचय होगा. उसके मुह पर सीधे कॉल काट देना आपका जंगलीपन होगा – जो आप चाहे जितने भी व्यस्त हों कदापि स्वीकार्य व्यवहार नहीं है.

उसका दिन बना दें हो सके तो

यदि आप वास्तव में अच्छे इन्सान हैं तो इतने प्यार से बात करें कि कॉल सेन्टर वाले को लगे शायद पहली बार किसी से बात कर इतनी खुशी हासिल हुई है. आपके प्यार भरे बोल सुन कर उसकी थकान दूर हो जायेगी और वह आपको कभी भूल नहीं पायेगा. और उसे खुशी देकर खुशी तो आपको भी मिलेगी न!

1 COMMENT

  1. बहुत ही सुंदर और उपयोगी जानकारी व सुझाव|आशा है आगे भी ऐसे ऑर्टिकल पढ़ने के मिलते रहेगें|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here