Tokyo Olympics 2020: शुरू हो गए ओलम्पिक खेल, सम्पन्न हुआ उद्घाटन समारोह

Tokyo Olympics 2020 के उद्घाटन समारोह में भारतीय दल के प्रतिनिधि थे हाथों में तिरंगा थामे स्टार बॉक्सर Mary Kom व हॉकी कप्तान Manpreet Singh

1
167
टोक्यो में सम्पन्न हुआ Tokyo Olympics 2020अर्थात दुनिया का सबसे बड़ा खेल मेला और इसके उद्घाटन समारोह में भारतीय दल का प्रतिनिधित्व किया विश्वविख्यात महिला मुक्केबाज़ Mary Kom और Manpreet Singh ने..
पहली बार ओलम्पिक खेल एक साल विलम्ब से हो रहे हैं. पिछले वर्ष चीनी बीमारी उर्फ़ कोरोना महामारी ने दुनिया में आतंक मचाया हुआ था जिसके कारण कई खेल प्रतियोगिताएं वैश्विक स्तर पर रद्द करनी पड़ी थीं. टोक्यो ओलम्पिक भी इसी चीनी वायरस के हमले का शिकार हो कर स्थगित कर दिया गया था और अब एक साल बाद फिर टोक्यो में ही पिछले वर्ष के अर्थात वर्ष 2020 के ओलम्पिक खेल शुरू हो रहे हैं जिनका श्रीगणेश हुआ आज उद्घाटन समारोह के साथ.

रोमांचित हुए भारतीय दर्शक

काफी इंतज़ार किया था ओलम्पिक खेलों का और जब भारतीय दर्शकों ने अंततोगत्वा इसके उद्घाटन समारोह को देखा और उसमे भारतीय दल को अपने तिरंगे के साथ देखा तो दुनिया भर के भारतीय दर्शक रोमांचित हो गए. बहुत से लोगों ने अपने स्थान पर खड़े हो कर और तालियां बजा कर अपने देश के खिलाड़ियों का स्वागत किया. यद्यपि ये सभी दर्शक टेलीविज़न पर ओलम्पिक देख रहे हैं किन्तु खेल-भावना के भी पहले देश-भावना है जो सभी हिन्दुस्तानियों के खून में हिलौरे मारती है, चाहे हम दुनिया के किसी भी हिस्से में क्यों न हों.

मैरी और मनप्रीत थे प्रतिनिधि

भारतीय खेल दल का प्रतिनिधित्व छह बार की विश्व विजेता भारतीय महिला मुक्केबाज़ मैरी कॉम और भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने किया. मेरी और मनप्रीत दल के आगे चल रहे थे और उनके हाथों में देश का तिरंगा झंडा देख कर राष्ट्रप्रेम की भावना बलवती हुई. मन ही मन सभी भारतीय दर्शकों ने अपने देश के इस खेल दल को शुभकामनाएं दीं और उनसे उम्मीद की कि वे देश के लिए बहुत से मैडल ले कर वापस आएंगे.

भारत का अब तक का सबसे बड़ा दल पहुँचा

एक साल की लंबी प्रतीक्षा के बाद शुक्रवार 23 जुलाई को टोक्यो ओलंपिक 2020 की शुरुआत हुई और इसके उद्घाटन समारोह में दुनिया भर से टेलीविज़न पर ये खेल समारोह देख रहे दर्शकों को ये देख कर अत्यंत प्रसन्नता हुई कि इस बार भारत का सबसे बड़ा खेल दल ओलम्पिक खेलों में भारत की तरफ से हिस्सा लेने के लिए पहुंचा था.

मास्क ही मास्क नजर आये

इन वैश्विक खेलों का आतिथ्य कर रहे जापान ने पूरी सतर्कता बरती क्योंकि इस बार भी कोरोना संक्रमण के भय से पूर्ण मुक्ति नहीं मिल पाई है. अतएव, ओलम्पिक खेलों के इस 32वें संस्करण के दौरान एक तरफ जहां जापानी संस्कृति और परंपराओं की झलक देखने को मिली तो वहीं मैदान में चल रहे खिलाड़ियों और स्टेडियम में उपस्थित दर्शकों के चेहरे पर कोरोना से बचाव हेतु लगे मास्क भी नज़र आये. मास्क के कारण खिलाड़ियों का चेहरा साफ़-साफ़ देखना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी था.

शानदार रंगारंग समारोह था

जापानी लोग दुनिया भर में अपनी आत्मीयता के लिए तो जाने ही जाते हैं अपने आतिथ्य के लिए भी वे विश्वप्रसिद्ध हैं और आज इस वैश्विक खेल मेले का आतिथ्य करते समय उन्होंने इस उत्तरदायित्व को बखूबी निभाया और इस उद्घाटन समारोह की शुरुआत शानदार रंगारंग समारोह के साथ की. इस दौरान स्टेडियम में जापान के सम्राट नारूहितो स्वयं उपस्थित हुए और उन्होंने खेलों के सर्वोच्च उद्घाटनकर्ता की भूमिका सम्हाली.

चमक भरी रात में दमक भरा उत्सव

जापान की राजधानी में जिस समय रात घिर आयी थी इस समय यहां का दृश्य देखने योग्य था. ओलम्पिक खेलों का आयोजनकर्ता स्टेडियम रौशनी से दमक रहा था और इस दौरान सामने मैदान में चल रहा था दुनिया भर से आये खिलाड़ियों का मार्चपास्ट. हालांकि कुछ खिलाड़ियों ने विशेष सावधानी का परिचय दिया और अगले दिन होने वाली अपनी खेल प्रतियोगिताओं को और कुछ ने बीमारी के संक्रमण से बचने के उद्देश्य से उद्घाटन समारोह में भाग नहीं लिया.

25वीं बार हिस्सा लिया है भारत ने

इन वैश्विक खेलों में भारत 25वीं बार हिस्सा ले रहा है और विशेष बात ये भी इस बार उसने अपना सबसे बड़ा दल भी प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए भेजा है. परम्परा का पालन करते हुए ओलंपिक मार्च पास्ट की शुरुआत यूनान से हुई. यूनान में ही सबसे पहले ओलंपिक खेल हुए थे. इसके बाद टोक्यो के स्टेडियम में खिलाड़ियों ने मार्च पास्ट किया जहां भारतीय दल जापानी वर्णमाला के अनुसार 21वें नंबर पर आया. हिन्दुस्तानी दर्शक पुलकित हो उठे अपने देश की टीम को देख कर जो कि मैरी कॉम और मनप्रीत सिंह की अगुवाई में परेड करने मैदान में उतर रहा था.

परिधान देख कर निराशा हुई

भारतीय दल की महिलायें बहुत ही साधारण वेशभूषा में नज़र आया. पुरुष खिलाडियों ने काले सूट जैसा परिधान पहना था और महिलाओं से उम्मीद थी कि वे सदा की तरह भारतीय साडी पहने नज़र आएँगी किन्तु वे फीके से भूरे रंग के सलवार सूट पहनी हुई नज़र आईं और तब दर्शकों को काफी निराशा हुई. ऐसा लगा मानो यह विश्व की महाशक्ति भारत का दल नहीं बल्कि बंगलादेश का दल है.

 

Tokyo Olympics 2020: कुछ खास बातें ओलंपिक खेलों की इस Opening Ceremony की

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here