आ रही है Bullet train दिल्ली से अयोध्या के बीच, किराया ज्यादा न होगा

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

नई दिल्ली. मोदी राज में राम मंदिर बना तो भारत का अयोध्या शहर भी ऐतिहासिक हो गया है. राम लला के शहर में आएगी देश की बहु प्रतीक्षित बुलेट ट्रैन जिसका किराया 3000 रूपये से भी कम हो सकता है अर्थात दिल्ली से अयोध्या जाने के लिए आपको बुलेट ट्रेन का किराय देना होगा तीन हज़ार रुपए से भी काम और ताजनगरी आगरा के लिए देने होंगे सिर्फ 1200 रुपये.

शुरू हुआ एरियल सर्वे का काम

दिल्ली से वाराणसी जाने वाली बुलेट ट्रेन की परियोजना के लिए एरियल सर्वे का काम शुरू हो गया है. केंद्र सरकार की प्राथमिकता में दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल (एचएसआर) कॉरिडोर प्रोजेक्ट रखा गया है जिसमें चार बड़े शहर जोड़े गए हैं -अयोध्या, आगरा, लखनऊ और प्रयागराज. यह कॉरिडोर 808 किलोमीटर लम्बा है और इस परियोजना को तैयार करने के लिए अध्ययन चल रहा है.

किराये की जानकारी आई सामने

जहां एक तरफ भारत के लोग बेसब्री से बुलेट ट्रेन (Bullet train) के चलने का इंतजार कर रहे हैं, वहीं सरकार भी इस परियोजना को शीघ्र पूरा कर लेना चाहती है. देश के लोगों की प्रतीक्षा के दौरान बुलेट ट्रेन के किराए को लेकर अहम जानकारी सामने आई है. दिल्ली से अयोध्या के बीच चलाई जाने वाली बुलेट ट्रेन (Bullet train Ayodhya to Delhi) का किराया किसी भी तरफ से सिर्फ 2,900 रुपए रखे जा सकते हैं वहीं ताजनगरी के लिए इस ट्रेन का किराया 1,200 रुपए होने की संभावना है.

आम ट्रेनों के किराये से कुछ ही ज्यादा

मीडिया को मिली जानकारी के अनुसार बुलेट ट्रेन का किराया वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) जैसी ट्रेनों के सर्वोच्च किराए अर्थात एग्जीक्यूटिव क्लास के किराए से ज़रा ही अधिक होगा. दूसरे रूट्स की बात करें तो बुलेट ट्रेन से लखनऊ का एक तरफ का टिकट 2,300 रुपए का और वहीं राजधानी दिल्ली से वाराणसी तक का किराया करीब 3,400 रुपए सम्भव है. तुलना के लिए बताना होगा कि वंदे भारत एक्सप्रेस के एग्जीक्टिव क्लास का वर्तमान टिकट फिलहाल 2,900 रुपए का है.

 उत्तरप्रदेश के सभी महानगरों से गुजरेगी

जानकारी के अनुसार बुलेट ट्रेन उत्तरप्रदेश के सभी महानगरों से होकर गुजरेगी. बुलेट ट्रेन पर हुए अध्ययन में बात सामने आई है कि इस प्रोजेक्ट पर प्रति किलोमीटर की लागत लगभग 268 करोड़ रुपए आयेगी और इसमें रोलिंग स्टॉक (कोच) सम्मिलित है.
 

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति