पेटीएम-फोनपे यूजर ध्यान दें, केवाईसी नहीं कराई तो बंद हो जाएगा मोबाइल से भुगतान

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

पेटीएम, फोनपे जैसे भुगतान वॉलेट का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के लिए एक जरूरी सूचना है. पेटीएम और फोनपे का इस्तेमाल करने वाले सभी यूज़र्स 31 अगस्त के पहले अपना केवाईसी(KYC) अपडेट करा लें. अगर वो ऐसा नहीं करते हैं तो वो पेटीएम और फोनपे का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे. दरअसल, भुगतान वॉलेट के केवाईसी (KYC) अपडेट करने की समयसीमा 31 अगस्त को खत्म हो जाएगी.

इससे पहले आरबीआई ने KYC कराने की अवधि पहले फरवरी 2019 तय की थी लेकिन भुगतान वॉलेट कंपनियों की अपील पर KYC अपडेड करने की समय सीमा को 6 महीने के लिए बढ़ा दिया गया था. अब ग्राहकों के पास केवल 10 दिनों का समय बाकी है. ऐसे में वो सभी उपभोक्ता जो पेटीएम और फोनपे वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं अपना केवाईसी अपडेट करा लें ताकि उन्हें सितंबर में किसी परेशानी का सामना न करना पड़े. एक अनुमान के मुताबिक अभी तक तकरीबन 40 फीसदी ग्राहक ऐसे हैं जिन्होंने केवाईसी अपडेट नहीं कराया है.

क्या होता है KYC?

केवाईसी दरअसल उभोक्ताओं की लेटेस्ट जानकारी का दस्तावेज़ होता है जिसमें उपभोक्ता पूछी गई सभी जानकारियां प्रदान करता है. इसमें मौजूदा पता, पैन कॉर्ड, आधार कार्ड, मोबाइल नंबर जैसी जरूरी जानकारियां अपडेट करनी होती हैं. अमूमन लोग अपनी जानकारियां केवाईसी में अपडेट नहीं करते हैं जिस वजह से उनको ट्रांजेक्शन में दिक्कतें हो सकती हैं.

केवाईसी के नियमों में बदलाव

नए नियमों के तहत मोबाइल वॉलेट पर  ग्राहकों को पैन कार्ड, आधार नंबर जैसे दस्तावेज अपलोड कराने होते हैं. इसके बाद संबंधित कंपनी के एजेंट केवाईसी में दर्ज कराए गए पते पर जाकर जानकारी को सत्यापित करते हैं. हालांकि वॉलेट कंपनियों का कहना है कि भौतिक सत्यापन से उनका खर्च कई गुना बढ़ गया है और उन्होंने आरबीआई से वीडियो केवाईसी कराने का विकल्प देने की अपील की थी जिस पर कोई फैसला नहीं हुआ है.

देश में मोबाइल वॉलेड का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों की संख्या 50 करोड़ से ज्यादा है. वहीं देश में एक दर्जन से ज्यादा भुगतान वॉलेट प्रचलन में हैं. ऐसे में करोड़ो उपभोक्ताओं को 31 अगस्त की समयावधि का ध्यान रखते हुए केवाईसी अपडेट कराने में देर नहीं करनी चाहिए.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति