PM Modi: गुजरात को दिये विकास के कई उपहार प्रधानमंत्री मोदी ने

नरेन्द्र मोदी भारत के ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं जिनके आधुनिक विचारों ने भारत में विकास की सिर्फ संभावनाएँ ही नही निर्मित की हैं बल्कि उन योजनाओं को कार्यान्वित करने हेतु  सभी कदम भी उठाये हैं. बनारस और अहमदाबाद को “स्मार्ट सिटी” का दर्जा मिलना इन्हीं अथक प्रयासों का परिणाम है.

देश का प्रथम ‘पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन’

अपने गृहप्रदेश के विकास की दिशा में एक और कदम पीएम नरेन्द्र मोदी द्वारा उठाया गया. गुजरात के गांधीनगर के नए रेलवे स्टेशन का उद्घाटन किया प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शुभ हाथों से हुआ. यह भारतवर्ष का ऐसा प्रथम “पुनर्विकसित रेलवे स्टेशन” है जहाँ मुसाफिरों को एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं मिलेंगी. कोवीड-19 के बढ़ते संक्रमण को मद्देनज़र रखते हुए रेलवे स्टेशन का उद्घाटन समारोह डिजिटल ढंग से किया गया. कार्यक्रम में गुजरात के सीएम विजय रूपाणी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी उपस्थित थे.

किया परियोजनाओं का उद्घाटन

प्रधानमंत्री मोदी ने अन्य कई परियोजनाओं का उद्घाटन भी किया. गुजरात के वडनगर स्टेशन को उन्होंने दिया सुंदर उपहार. नवीन परियोजनाओं के उद्घाटन में अहमदाबाद साइंस सिटी की तीन नई परियोजनाएँ भी शामिल हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि ये रेलवे स्टेशन देश के आने वाले कल की नींव है. उन्होंने ये भी कहा कि सिर्फ कॉन्क्रीट की इमारतें खड़ा करना ही मानव विकास का उद्देश्य नही बल्कि देश में ऐसे इन्फ्रास्ट्रक्चर का निर्माण होना भी आवश्यक है जिनका अपना वजूद हो. पब्लिक स्पेस सभी की बेसिक और ज़रूरी आवश्यकता है. शहरों की एक बड़ी आबादी क्वालिटी पब्लिक लाइफ और क्वालिटी पब्लिक स्पेस से वंचित रही है. अर्बन डेवलपमेंट की पुरानी सोच को त्यागकर देश आगे बढ़ रहा है.

रेलवे में शुरू से अंत तक चाहिये सुधार

पीएम मोदी ने बताया कि साइंस सिटी के ज़रिये बच्चों में रचनात्मकता उजागर होती हैं और ये सृजनात्मक क्रिया एक मनोरंजक सुविधा के रूप में भी कार्य करता है. प्रधानमंत्री ने समृद्ध भारत क़े स्वप्न को साकार करने के संदर्भ में ये भी कहा कि इक्कीसवीं सदी के भारत की आवश्यकताएँ बीसवीं वीं सदी के पुराने तौर तरीकों से पूरी नहीं हो सकती है. यही वजह है कि रेलवे में नए सिरे से रिफॉर्म करने की आवश्यकता है.

‘रेलवे सिर्फ सेवा नहीं हमारी संपदा भी है’

रेलवे सिर्फ एक सर्विस के तौर पर नहीं, बल्कि एक एसेट मानकर उस पर विकास करने का काम शुरू किया जाना चाहिये. आज देशभर में प्रमुख रेलवे स्टेशनों का नवीनीकरण (आधुनिक) किया जा रहा है. 2 टियर और 3 टियर वाले शहरों के रेलवे स्टेशन में भी अब वाई-फाई की सुविधाएँ सुलभ है. ब्रॉड गेज पर अनमेन्ड रेलवे क्रॉसिंग को पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है.

गांधीनगर को मिलेगा नया टर्मिनल

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कार्यक्रम में जन-मानस को संबोधित करते हुए कहा गांधीनगर का नया टर्मिनल भवऩ डिजिटल भारत का प्रारंभिक रूप होगा. उन्होंने ये भी कहा कि मोदी जी के पीएम बनने के बाद से गुजरात में कई अवलंबित रेल परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं.

रेलवे स्टेशन बनेगा आधुनिक हवाई अड्डे सा

गांधीनगर रेलवे स्टेशन का निर्माण आधुनिक एयर पोर्ट्स की तरह किया गया है, इसमें उच्च और विश्व स्तरीय सुविधाएँ उपलब्ध कराई गई है. यह एक विकलांगों के लिये सुविधाजन्य स्टेशन है जिसमें उनके लिये एक विशेष टिकट बुकिंग काउंटर, रैंप, लिफ्ट और समर्पित पार्किंग के प्रोविज़न भी मौजूद है. रेलवे स्टेशन में एक फाईव स्टार होटल भी निर्मित किया जायेगा जिसका संचालन एक निजी संस्था द्वारा किया जाएगा. इस पूरी इमारत के बनने में ₹71 करोड़ की लागत आई है और साथ ही साथ इसका निर्माण ग्रीन बिल्डिंग सुविधाओं के लिये भी किया गया है.

 

https://newsindiaglobal.com/news/india/new-delhi-railway-station-is-going-to-look-like-an-american-airport/12916/