पूछता है देश: अखिलेश यादव के क्या संबन्ध हैं अलकायदा के साथ?

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
अखिलेश यादव और सपा के, आतंकियों से संबंधों की जांच हो – यूपी पुलिस पर उंगली उठा कर, अखिलेश ने अलकायदा को क्लीन चिट दे दी है.
कल लखनऊ में अलकायदा से जुड़े 2 आतंकी मसीरुद्दीन और मिनहाज़ अहमद के पकडे जाने पर भेद खुला कि 15 अगस्त को देश के कई हिस्सों को दहलाने की साजिश थी.
इस सजिश के तार पाकिस्तान से जुड़े थे, ये पुलिस जांच में सामने आया है और ये आतंकी अलकायदा समर्थित अंसार गजवातुल हिंद से जुड़े थे.
लेकिन समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बड़ी “निर्लज्जता” से कह दिया कि उन्हें न पुलिस पर भरोसा है और न बीजेपी सरकार पर.
इसका मतलब साफ़ है कि पुलिस ने जो आतंकी पकडे हैं वो आतंकी हैं ही नहीं और अखिलेश यादव जी उन्हें अभी से “निर्दोष” घोषित कर रहे हैं.
यह अत्यंत गंभीर मसला है, और ये कोई बोलने की आज़ादी से जुड़ा मसला नहीं है और न ये “असहमति” की प्रदर्शन है.
इस तरह का बयान तो अखिलेश यादव की तरफ इशारा कर रहा है जैसे उनके और उनकी पार्टी के संबन्ध आतंकियों से हैं.
समाजवादी पार्टी का आतंकियों से पुराना नाता रहा है –कभी मुलायम सिंह यादव “सिमी” को आतंकी ही नहीं मानते थे और कहते थे कि “सिमी” के लोग जब चाहें उनके घर आ सकते हैं.
नेताओं के आतंकियों से संबंधों पर जांच नहीं हो पाती और इसीलिए आतंकी खुले में वो अपना काम करते हैं –ये बात अलग है कि पिछले 7 साल में आतंकवादी कोई हमले नहीं कर सके, कश्मीर के बाहर.
सुरक्षा से सम्बंधित संस्थाएं और उनमे काम करने वाले अधिकारी चौकन्ने रहते हैं जिसकी वजह से आतंकी नाकाम रहते हैं.
मगर अब समय आ गया है कि जिस तरह अखिलेश यादव ने बयान दिया है और जो नेता इस कांड पर खामोश हैं, उनके ऐसे आतंकियों से रिश्तों की भी जांच की जाये.
उत्तर प्रदेश की जनता भी अब सवाल कर सकती है कि क्या अब सपा आतंकियों का समर्थन करने वाली देश की दूसरी पार्टी बन गई है जिसके पहले संदिग्ध तौर पर आतंकियों के साथ का हाथ कांग्रेस का दिखाई दिया है.
अखिलेश यादव को सोचना चाहिए कि यही पुलिस उसके राज में भी थी जिस पर आज वो भरोसा नहीं कर रहे हैं.
योगी जी कोई नया पुलिस बल ले कर नहीं आये हैं -अखिलेश यादव का इस तरह पुलिस बल का मनोबल गिराना निंदनीय है.
(सुभाष चन्द्र)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति