पूछता है देश : क्यों अपने ही बन जाते हैं मोदी के दुश्मन?

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
“अंगारों पर चलता रह तू मोदी, रोज अग्नि परीक्षा लेंगे तेरी, आज तेरी जय जय कर देंगे हम, कल तेरा ही खून चूस लेंगे,बस गलती तेरी माफ़ नहीं होगी, चाहे तू शीश कटा दे अपना”
यही हो रहा है 7 साल से कि मोदी के अपने लोग उसे बस अपना चाकर ही समझ बैठे हैं –कोई काम उनकी मर्जी के खिलाफ नहीं होना चाहिए -उसे 7 साल से रोज अग्नि परीक्षा देनी पड़ रही है.
एक काम के लिए उसके अपने जय जय कर देते है कि मोदी जैसा कोई नहीं और दूसरे दिन किसी की पसंद का कोई काम ना हो तो मोदी तू किसी काम का नहीं है.
राजीव गाँधी का नाम खेल रतन से हटा दिया तो बस क्या कहने हैं और याद कीजिये जब मोटेरा स्टेडियम का नाम मोदी के नाम पर रखा था तो क्या विलाप हुआ था.
लेकिन 4 दिन बाद अश्विनी उपाध्याय गिरफ्तार हो गया तो बस मोदी तेरी ऐसी तैसी, तेरा अमित शाह भी बेकार है –और कल से OBC आरक्षण पर भी कुछ लोगों ने तलवारें खींच ली हैं –
एक बात याद रखनी होगी कि कांग्रेस का दिया हुआ आरक्षण देश और समाज के लिए “जरूरी बुराई” बन चुका है -जिसे अंग्रेजी में “unavoidable Evil” कह सकते हैं –कोई पार्टी इसे ख़तम नहीं करेगी -.
कोई मोदी से आशा करे कि वो इस आरक्षण को समाप्त कर देंगे तो ये उचित नहीं है –उसने कभी ऐसा वादा भी नहीं किया.
हमारे लोग आवेश में ना जाने क्या क्या बोल जाते हैं –यकीन न हो 2018 चुनाव का वो नारा याद कर लो –“वसुंधरा तेरी खैर नहीं, मोदी से कोई बैर नहीं” अब सबको मजे मिल रहे हैं इस नारे के —
2014 में लोकसभा में भाजपा के 282 में से 67 (SC/ST) सदस्य थे और उसमे 40 SC थे और 27 ST थे. ये संख्या 2019 में बढ़ कर 303 में से 77 हो गई जिनमे 46 SC 31 ST हैं -ये 303 का 25% है .
ये लोग मोदी के साथ लोकसभा में खड़े रहते हैं –हम साधारण से लोग मोदी को अपेक्षित सहारा नहीं दे सकते –विपक्ष 7 साल से मोदी के खिलाफ संसद नहीं चलने दे रहा और ऐसे में हम भी विरोध में उसे लताड़ मारते रहें तो ये उचित नहीं है.
ये सवाल हर समय करना उचित नहीं है कि मोदी ने क्या किया बल्कि ये हमें अपने से पूछना चाहिए कि क्या हम उसके किये कामों को समझ सके.
एक छोटा सा उदाहरण देता हूँ – क्या कभी किसी ने सपने में भी सोचा था कि NIA कश्मीर में जा कर जब मर्जी आतंकियों पर रेड करेगी –वो अब हो रहा है -ये है मोदी का काम, हम में से कितने इस पर ध्यान देते हैं.
मुझे पता है मेरी बात कई ज्ञानियों को रास नहीं आयेगी लेकिन जो मुझे कहना था, कह दिया –मोदी को अनर्गल विलाप से हटाया जा सकता है मगर आने वाले लोग हिन्दू कौम को जीने नहीं देंगे — ये याद रखना होगा –
(सुभाष चन्द्र)

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति