पूछता है देश : रेन कोट पहन कर कब तक नहायेंगे शरद पवार?

महाराष्ट्र का हैंडल घुमा रहे हैं -शरद पवार –मगर अभी तक नहा रहे हैं रेनकोट पहन कर — सबको नहीं पता कि अर्नब गोस्वामी को अंदर कराने वाले शरद पवार ही थे.
आज शिव सेना के नेता अनंत गीते ने कहा है कि पीठ में छुरा घोंपने वाले शरद पवार हमारे ‘गुरु’ नहीं हो सकते और एमवीए सरकार सिर्फ एक ‘समझौता’ है.
ये लोग बोलते हुए सोचते नहीं कि क्या बोल रहे हैं –कल शिव सेना ने ही पवार को बाप बना कर सरकार बनाई थी और ये बात तो खुद संजय कई बार राउत पवार को “बड़ा नेता” कह कर बता चुका है.
पवार ने भतीजे को भाजपा से दूर रखने के लिए उद्धव सरकार में उसे बिठा दिया और कांग्रेस तो भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए आ गई सरकार में “मुसलमानों” से पूछ कर.
सरकार बनते ही सब अपने अपने हिस्से का माल बनाने में लग गए पर सबसे बड़ा कलाकार पवार हैं जो सरकार का हैंडल घुमा रहा है –कोई भी घोटाला हो,100 करोड़ से कम की तो बात ही नहीं होती.
पवार ही था जिसने अन्वय नाइक के बंद पड़े केस को 2 साल बाद खोल कर उसकी बीवी से मिल कर अर्नब गोस्वामी को सचिन वांझे के हाथों गिरफ्तार कराया था जिसके लिए निर्देश दिए पवार के शागिर्द अनिल देशमुख ने — यही निर्देश कथित TRP केस में दिए.
सचिन वझे को बहाल उद्धव ने बिना शरद पवार की सलाह के नहीं किया होगा और वो सलाह भी देशमुख के जरिये हुयी होगी.
अर्नब गोस्वामी को जेल में खूंखार कैदियों के साथ रखने के लिए सच तो ये है कि पवार ने लोअर कोर्ट और हाई कोर्ट के जजों को भी एक तरह साध लिया था जो उनके बर्ताव से जाहिर होता था और अर्नब को 10 दिन जेल में रखा गया.
आज अनिल देशमुख और पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह पर गिरफ़्तारी की तलवार लटक रही है मगर बच रहे हैं या कहिये तो बचाये जा रहे हैं अदालतों के ही आदेशों से जबकि पवार ने अर्नब को गिरफ्तार कराने में पल भर की भी देर नहीं की थी.
आज पवार को डर है कि कहीं देशमुख गिरफ्तार हो कर उसे ही ना लपेट दे.
सचिन वांझे का कहना है अनिल परब और अनिल देशमुख ने 20 -20 करोड़ रुपये लिए थे परमबीर सिंह द्वारा किये गए ट्रांसफर के आदेशों को रोकने के लिए.
एक दिन पहले कोर्ट ने कहा है कि देशमुख ने सचिन और अपने साथी कुंदन शिंदे से 4.7 करोड़ रुपये लिए थे जिसका आरोप ED ने लगाया है.
सारी कालिख अनिल देशमुख और परमबीर या अन्य मंत्रियों के मुंह पर पुत रही है मगर सबका निर्देशक शरद पवार रेनकोट पहने नहा रहे हैं.
दूसरा कलाकार परमबीर सिंह है जो कभी न कभी सुशांत सिंह और दिशा सालियान की हत्या में लिप्त मिलेगा –अभी तो भ्रष्टाचार के केसों में लपेटे में हैं –कल और भेद खुल सकते हैं.