148 साल बाद सूर्यग्रहण और शनि अमावस्या एक साथ, बन रहा अद्भुत संयोग, 4 दिसंबर को साल का आखिरी सूर्यग्रहण

Surya Grahan 2021 Date and Time : साल का आखिरी सूर्य ग्रहण 4 दिसंबर 2021 दिन शनिवार को लगेगा. हिन्दू पंचांग के अनुसार अगहन मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि है. ऐसा संयोग 148 साल बाद बन रहा है. इससे पहले शनि जयंती के मौके पर सूर्य ग्रहण 26 मई 1873 को लगा था. साल का ये आखिरी सूर्य ग्रहण है जो 4 दिसंबर की सुबह 10 बजकर 59 मिनट पर शुरू होगा और दोपहर 03 बजकर 07 मिनट पर समाप्त होगा.

148 साल अद्भुत संयोग

148 साल के बाद ये संयोग बन रहा है जब शनि जयंती पर सूर्य ग्रहण लग रहा हो. खासबात यह है कि सूर्य पिता हैं और शनि पुत्र हैं. लेकिन शास्त्रों की मानें तो दोनों ही पिता पुत्र के बीच में दूरियां रहती हैं. सूर्य छाया पुत्र शनि का जन्म ज्येष्ठ मास की अमावस्या तिथि को हुआ था इसलिए प्रत्येक वर्ष इस दिन शनि जयंती मनाई जाती है. इससे पहले 26 मई 1873 में बना था जब शनि मकर राशि में थे और उस समय सूर्य ग्रहण और शनि जयंती एक साथ आई थी. इस बार लगने वाला सूर्य ग्रहण मृगशिरा नक्षत्र के वृषभ राशि में लगने जा रहा है.

भारत में नहीं दिखेगा सूर्य ग्रहण

ये सूर्य ग्रहण अंटार्कटिका, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अमेरिका में दिखाई देगा. इस ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकेगा. जिसकी कारण इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा. लेकिन ज्योतिष के मुताबिक सूर्य एक है, जिस वजह से ग्रहण के प्रभावों से बचा नहीं जा सकता है. ऐसे में ये जरूरी है कि सूर्य ग्रहण के दिन कुछ पूजा-पाठ और दान किया जाए ताकि अगर राशि में ग्रह दोष हो तो ग्रहण का असर न पड़े. साथ ही मनवांछित कार्य में सफलता के लिए भी सूर्यदेव को प्रसन्न किया जा सके.

दरअसल, सूर्य ग्रहण की बात जब भी आती है तो लोग परेशान हो जाते हैं. चिंता की वजह से उपाय करने लगते हैं. घर में बुजुर्ग और गर्भवती महिलाएं परेशान हो जाती हैं. लेकिन इस बार जब भारत में सूर्य ग्रहण दिखाई ही नहीं दे रहा है तो ऐसे में घबराने की जरूरत नहीं है. बस ग्रहण के दिन इन बातों का ध्यान रखें.

ग्रहण के समय क्या नहीं करना चाहिए –

  1. सूर्य ग्रहण के समय भोजन करना वर्जित माना गया है.
  2. ग्रहण से पहले पकाए हुए भोजन में तुलसी की पत्ती डाल दें
  3. कोई भी नया काम शुरू नहीं करें और न ही कोई मांगलिक कार्य करें
  4. ग्रहण के समय सोना नहीं चाहिए
  5. ग्रहण के समय मंदिर के कपाट बंद रखें

ग्रहण के समय लाभप्रद हैं ये कार्य –

  1. ग्रहण के दौरान आदित्यहृदय स्तोत्र का पाठ करें

2.ग्रहण के दौरान इष्ट देव का पूजन और मंत्रों का जाप करें.

  1. सूर्य ग्रहण में दान करना बेहद शुभ माना गया है. गेंहू का दान किसी गरीब को करें.
  2. ग्रहण समाप्त होने के बाद घर की सफाई करें.गंगाजल का छिड़काव करें.
  3. ग्रहणके बाद स्नान करें.