Taute Cyclone: समंदर से आया ताउते का कहर, डुबा दिया जहाज

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

तूफान जब भी आता है अपने साथ तबाही ही लाता है और छोड़ जाता है अपने पीछे उजड़ी हुई ज़िन्दगियाँ| जान-माल का नुकसान| ऐसा ही कुछ हुआ है जब ताउ-ते चक्रवात तूफानी कहर बन कर हिन्दुस्तान की सरजमीन पर टूटा|

ताउ-ते चक्रवात -ऐसे हुई शुरुआत

इस चक्रवात की तूफानी शुरूआत हुई 14 मई 2021को केरल और तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों से| वहाँ तेज़ हवाओं के साथ बारिश से हलचल मचाता हुआ ये चक्रवात तूफानी गति से कर्नाटक को प्रभावित करता हुआ सोमवार 16 मई को मुंबई से हो कर गुज़रा|

बार्ज P-305 जहाज डूबा

जब ताउ-ते मुंबई से होकर गुज़रा तो एक जहाज बार्ज P 305 मुंबई हाई में फंस गया|इस जहाज पर 273 लोग सवार थे|भारतीय नौसेना और कोस्ट गार्ड ने रेस्क्यू आपरेशन चलाकर 146 लोगों को बचा लिया है जबकि 171 लोग अब भी लापता हैं|

ताउ-ते का विकराल रूप

हालांकि रेस्क्यू के लिये आईएनएस कोच्चि को रवाना किया गया था, परन्तु परिस्थितियाँ प्रतिकूल थीं| समंदर की ऊँची-ऊँची लहरें और तेज़ हवाएँ डरावना दृश्य पैदा करते हुए बाधाएँ उत्पन्न कर रही थी| इसके बाद आईएनएस कोच्चि और आईएनएस कोलकाता ने मिलकर रेस्क्यू आपरेशन को अंजाम दिया|

भारतीय नौसेना का सहयोग

राहत कार्य में P81 सर्विलांस एयरक्रॉफ्ट और हेलिकॉप्टर की भी सहायता दी जा रही है भारतीय नौसेना की ओर से|ताकि ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की जानें बचाई जा सके| राहत कार्य में भारतीय नौसेना ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है|आईएनएस कोच्चि और कोलकाता के द्वारा दूसरी सपोर्ट वेसल की मदद भी ली जा रही है|

दूसरे जहाजों का हाल

बार्ज Gal Constructor पर 137 लोग सवार हैं|इनमें फंसे लोगों को बचाने के लिये इमरजेंसी टोइंग वेसेल और दो सपोरिट वेसेल CGS सम्राट के साथ मदद के लिये पहुँचे हैं|
ऑयल रिग सागर भूषण पर 101 लोग फंसे हैं|आईएनएस तलवार को रेस्क्यू के लिये भेजा गया है|
बार्ज SS-3 पर 196 लोग सवार हैं परिस्थितियाँ प्रतिकूल होते ही नौसेना के P81 एयरक्रॉफ्ट ऐर हेलीकॉप्टर की मदद ली जायेगी|
महाराष्ट्र के बाद ताउ-ते ने गुजरात में भी अपना तांडव मचाया|कुछ लोगों की जानें भी गई|करीबन 185 किलोमीटर की रफ्तार से इस चक्रवात ने बवंडर मचाया|तेज़ हवाओं के साथ बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया|

अन्य राज्यों में ताउ-ते का असर

राजस्थान, दिल्ली,हरियाणा ,उत्तरप्रदेश,पंजाब,चंडीगढ़़,हिमाचल और उत्तराखंड में मौसम बदला| यहाँ पानी बौछारों के साथ 30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज़ हवाएँ चलने से मौसम सुहाना हो गया है|जिससे लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत महसूस हो रही है|
हर साल भारत पर हमला करने वाले तूफानो में अब ताउते भी एक बुरी याद बन कर शामिल हो गया है जिसने गत वर्ष मई 2020 में आये तूफान अम्फान की याद ताज़ा कर दी है| अभी इस चक्रवात के दर्द से लोग ऊबर भी नहीं पाये हैं कि पश्चिम बंगाल उड़ीसा में यास चक्रवात की शंका जताई जा रही है|

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति