Rs 100 Cr की वसूली वाली बात सही है- Sachin Vaze ने किया कबूल

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
एंटीलिया केस वैसे भी लगातार खुलासों के दौर से गुजर रहा है, ऐसे में एक और जानकारी सामने आई है कि जिसने एक बड़े आरोप पर सच की मुहर लगा दी है. अब महा-राजनीतिक मारधाड़ के मैदान में ये मामला और भी चंगेजी हो गया है. पता चला है कि सचिन वाझे ने इस बात को मान लिया है कि 100 करोड़ रुपये की वसूली का टारगेट रखने की बात झूठी नहीं है.

एनआईए का ख़ास ‘मेहमान’ है सचिन

एंटीलिया केस में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने सचिन वाझे को धर दबोचा है और एनआईए को ये बड़ी कामयाबी मिली है जो इस अभियुक्त के एक बड़े कबूलनामे की शक्ल में सामने आई है. एनआईए से अपनी मेहमाननवाजी करा रहे सचिन वाझे ने अंततोगत्वा इस बात की पुष्टि कर दी है कि पूर्व पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह के आरोप में सच्चाई है जो अब खुल कर सामने आई है. ये जानकारी अंदरखाने के जानकार सूत्रों के माध्यम से सामने आई है कि परमवीर ने जो आरोप लगाया है, अर्थात 100 करोड़ रुपये की वसूली का टारगेट रखने की बात सच है.

सीआईयू का मुखिया था वाझे

गिरफ्तारी के बाद वाझे की पोस्ट की सच्चाई भी खुल कर सामने आ गई है. वाझे को मुंबई पुलिस की क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (सीआईयू) का चीफ बना दिया गया था जबकि मूल रूप से वह एक असिस्टेंट इंस्पेक्टर रैंक का पुलिसवाला था. जानकारी मिली है कि एनआईए की पूछताछ में सचिन वाजे ने राजफाश किया है कि उसको गृहमंत्री अनिल देशमुख ने 100 करोड़ रुपये की वसूली का लक्ष्य दिया था.

एक मंत्री और है जो महा-चोर है

एक मंत्री और है जिसकी जंत्री खोली जा रही है. इस मंत्री की पोल भी सचिन वाझे ने ही खोली है लेकिन अभी इस मंत्री का कारनामा सामने आया है उसका नाम अभी सामने आना बाकी है. पूछताछ में सचिन वाझे ने बताया है कि ये मंत्री भी एक हाई प्रोफाइल मंत्री है. इस दूसरे हाई प्रोफाइल मंत्री ने भी पिछले साल उसे पैसों की वसूली का टारगेट दिया था. अभी ये बात स्पष्ट नहीं हो पाई है कि कि दूसरा मंत्री कौन है क्योंकि सचिन वाझे इस सवाल पर मौन है.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति