ठाकरे सरकार का काउंटडाउन: Param Bir Singh ने मुह खोला – Sachin Vaze को 100 करोड़ का टारगेट दिया था Anil Deshmukh ने

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
महाराष्ट्र में आपसी कलह अब प्रदेश राजनीति की घरेलू-घमासान में बदलती जा रही है. कुछ दिन पीछे जा कर देखें तो महाराष्ट्र की राजनीतिक सड़क पर सब कुछ शांत था. उसके बाद अचानक हुई एक दुर्घटना ने ऐसी दुर्घटनाओं का तांता लगा दिया कि अब महाराष्ट्र सरकार का रोड जाम कर सकती है जिससे ठाकरे एक्सप्रेस पटरी से उतर सकती है.

परमवीर फिर आये चर्चा में

मुंबई में फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की संदेहास्पद मृत्यु की जांच के दौरान मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह चर्चा में आये थे और उसके बाद अब फिर वे चर्चा में हैं जब उनको उनके पद से हटा दिया गया है. और 28 फरवरी 2020 से 18 मार्च तक पुलिस कमिश्नर रहे परमबीर सिंह ने विवादों में रह कर ज्यादा नाम कमाया है उसके अलावा उनके नाम के साथ किसी तरह की उपलब्धि जुडी हुई नज़र नहीं आती.

लिखा है पत्र परमवीर ने

एक बात कही गई है उर्दू में – जब दिया रंज बुतों ने तो खुदा याद आया! सीएम ठाकरे की दम पर ठकुराई कर रहे परमवीर सिंह अपनेआप को बॉम्बे का बॉस मानते थे लेकिन बासी हो गई है अब ये बात. कारण सबको पता है जिस पर उनको एक झटके से उनकी कुर्सी से उतार डाला गया है. परंतु अचानक अब परम बीर सिंह ने लगा दिया है आरोप प्रदेश के गृहमंत्री अनिल देशमुख पर. परम बीर ने ये आरोप लगाया है अपने पत्र में जिसमें उन्होंने बताया है कि अनिल देशमुख ने तथाकथित सुपरकॉप सचिन वाझे को दिया था 100 करोड़ का टारगेट.

परमवीर ने कर दी है शुरुआत

सूखी घास पर चिंगारी भी आग का काम कर देती है और अगर उस घास के नीचे पहले ही बारूद का पलीता हो तो मंज़र क्या होगा, अनुमान आसानी से लगाया जा सकता है. परमवीर सिंह (Parambir Singh) ने अपने पत्र में में लिखा है कि- ‘गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ने सचिन वाझे को बोला था कि उन्हें प्रत्येक माह सौ करोड़ रूपये जुटाने हैं. गृह मंत्री ने इस टारगेट को हासिल करने के लिए सचिन वाझे से कहा था कि अगर मुंबई में मौजूद 1750 बार और रेस्टोरेंट से यदि 2-3 लाख रुपये भी वसूल हो जाएँ तो प्रत्येक माह 40-50 करोड़ रुपए जुटाए जा सकते हैं.’

गिरफ्तार है सचिन वाझे

मुंबई में गिरफ्तार पुलिस अधिकारी सचिन वाझे को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से भी जाना जाता है और उनके नाम पर तमाम विवाद भी जुड़े हुए हैं. एंटीलिया मामले में मुंबई पुलिस के इस ‘सुपरकॉप’ को पकड़ा गया है और अब इस मामले को सचिन वाजे (Sachin Vaze) केस के नाम से भी जाना जा रहा है. इस सचिन वाझे मामले में नया मोड़ आ गया है जिसमें शहर के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह (Parambir Singh) ने सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) को एक पत्र लिख कर गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर जो आरोप लगाये हैं वो बहुत गंभीर हैं.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति