Don Bradman से बेहतर औसत वाला एक क्रिकेटर है India के पास जिसे रख सकते हैं पहले मैच में बाहर

Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email
ज्यादातर क्रिकेटप्रेमियों को शायद ये हैरान करने वाला तथ्य पता नहीं है कि डॉन ब्रेडमैन से भी बेहतर एक खिलाड़ी भारत के पास है. औऱ कमाल की बात ये भी है कि जो औसत डॉन ब्रेडमैन ने अपनी पूरी क्रिकेट लाइफ में अर्जित किया वो भारत के इस खिलाड़ी ने अपनी शुरुआत में ही अर्जित कर लिया है.

नाम है मयंक अग्रवाल

पिछले कुछ सालों में देश के क्रिकेटर मयंक अग्रवाल के नाम और काम से परिचित हो चुके हैं. सब जानते हैं कि यह युवा खिलाड़ी इतना प्रतिभाशाली है कि आने वाले दिनों में क्रिकेट के क्षेत्र में देश का नाम रौशन करेगा. मगर इतने ही कमाल की बात ये भी है कि लोग ये नहीं जानते कि मयंक ने अभी से ही क्रिकेट के डॉन को पछाड़ दिया है.

ब्रेडमैन से ऐसे बेहतर हैं मयंक

मयंक अग्रवाल वो गुमनाम दिग्गज खिलाड़ी कहा जा सकता है जिसका घरेलू मैदानों पर औसत ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन से भी अधिक है. मयंक ने अब तक घरेलू मैदान पर मात्र पांच टेस्ट मैच ही खेले हैं जिनमें उनका औसत 99.50 रनों का रहा है और उन्होंने कुल 597 रन बनाए हैं. इस तरह मयंक ब्रेडमैन से बेहतर हो जाते हैं क्योंकि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में अपने घरेलू मैदानों पर 33 टेस्ट मैच खेल कर 98.22 की औसत से कुल 4,322 रन बनाए हैं.

पांच मैचों में तीन शतक

लगभग सौ के औसत से मयंक अग्रवाल ने अपने पांच मैचों में तीन शतक बनाये हैं. दुनिया में अपने घरेलू मैदानों पर पांच या अधिक टेस्ट मैच खेलने वाले बल्लेबाजों की यदि बात की जाये अब तक मयंक का औसत सर्वोत्तम है और इसी क्रम में ब्रैडमैन दूसरे स्थान पर आते हैं. यही प्रतिभाशाली बल्लेबाज मयंक अग्रवाल इंग्लैन्ड के विरुद्ध पहला टेस्ट मैच खेलने वाले प्लेइंग-11 से बाहर हो सकते हैं.

वजह है ये

ऑस्ट्रेलिया में सभी स्टार खिलाड़ियों की गैर मौजूदगी में भी टेस्ट सिरीज जीतने वाली इन्डियन स्क्वाड में इंग्लैन्ड मुकाबले के लिये कप्तान विराट कोहली सहित लगभग सभी बड़े खिलाड़ी वापस आ गये हैं. इसलिए संभावना ये जताई जा रही है कि गाबा के मैदान में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खलेने वाले पांच खिलाड़ी 5 फरवरी से इंग्लैन्ड के विरुद्ध चेन्नई टेस्ट के लिए भारत की प्लेइंग-11 में शायद स्थान न बना पाएं.