MP में टीकमगढ़ में एक टीचर को सलाम, खंडहर बन चुके स्कूल को अपनी सैलरी से संवारा, गांव की दीवार को ब्लैकबोर्ड बना डाला

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

कोरोना काल की वजह से देशभर में स्कूलों की पढ़ाई बुरी तरह प्रभावित हुई है. मध्य प्रदेश में कोरोना महामारी की वजह से सभी जगह स्कूल बंद हैं. ऐसे में बच्चों को पढ़ाई की तरफ आकर्षित करने के लिए एक सरकारी शिक्षक ने मिसाल कायम की है. उन्होंने गांव में खंडहर बन चुके स्कूल को न सिर्फ संवारा बल्कि बच्चों को कोविड 19 की गाइडलाइंस का पालन करते हुए मोहल्ला क्लास लगा कर पढ़ा भी रहे हैं. मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ में सरकारी स्कूल के एक टीचर ने ऑनलाइन शिक्षा देने के बाद अपना खाली समय गांव के बच्चों को पढ़ाने और स्कूल की दशा सुधारने में लगाया.
टीकमगढ़ जिले के सगरवारा गांव के सरकारी स्कूल के टीचर प्रमोद नापित ने गांव के बच्चों को पढ़ाई के प्रति आकर्षित करने के लिए नायाब तरीका अपनाया. उन्होंने खंडहर बन चुके प्राथमिक शासकीय स्कूल को एक ट्रेन के डिब्बे की तरह बना डाला. 80 फीट लंबे इस प्राथमिक स्कूल का लुक बिल्कुल रेल के डिब्बे की तरह है जिसे देख कर बच्चों की भीड़ उमड़ रही है.
हुबहू ट्रेन की तरफ नज़र आने के लिए शिक्षक प्रमोद नापित ने अपनी जेब से पैसा लगाया है. पिछले 3 महीनों में उन्होंने अपनी सैलरी का पैसा सरकारी स्कूल की सजावट पर खर्च कर डाला. लगातार 3 महीने मेहनत कर खंडरहरनुमा स्कूल को प्रमोद नापित ने ट्रेन की रूप-रंग दे डाला. ऐसा करने के पीछे उनका उद्देश्य है कि इससे बच्चों में स्कूल जाने के प्रति आकर्षण और उनकी उपस्थिति बढ़ेगी. स्कूल को रेल का डिब्बा बनाने में उनकी जेब से 30 हज़ार रुपये का खर्च आया है.
इतना ही नहीं, प्रमोद नापित बच्चों की पढ़ाई के लिए पूरी तरह से समर्पित टीचर हैं. उन्होंने गांव में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए मोहल्ला स्कूल शुरू किया है. वो गांव में दीवारों पर ब्लैकबोर्ड बना करके बच्चों को पढ़ाते हैं.
कोरोना काल में प्रमोद की ये नायाब पहल बच्चों को स्कूल की तरफ आकर्षित कर रही है. भविष्य में जब भी स्कूल खुलेंगे तो गांव के बच्चे रेल के डिब्बे में बैठने के बहाने ही सही स्कूल में शिक्षा लेने आएंगे. बस यही प्रमोद चाहते हैं और उनके इस बेमिसाल कमाल को न्यूज़ इंडिया ग्लोबल सलाम करता है.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति