UPTET 2021 Paper Leaked: यूपी एसटीएफ की बड़ी कार्रवाई, ताबड़तोड़ छापे में 23 गिरफ्तार, एक महीने में होगे Exam

UPTET Exam Cancelled:  यूपी टीईटी का पेपर लीक होने के बाद रद्द कर दिया गया है. उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UP TET Exam 2021) सभी जिलों में रविवार सुबह 10 बजे से शुरू हो गई थी. लेकिन मथुरा से वॉट्सऐप पर पेपर लीक (Paper Leaked Case) होने के बाद परीक्षा रद्द कर दी गयी. इस मामले में यूपी एसटीएफ ने 23 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसके साथ ही यूपी के अलग-अलग स्थानों पर एसटीएफ की टीमें ताबड़तोड़ दबिश के लिए लगाई गई हैं. इसके साथ ही इस पर राजनीति भी तेज हो गई है. यूपी टीईटी का पेपर लीक होने के बाद विपक्ष ने योगी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है.

अखिलेश यादव का योगी सरकार पर हमला

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधा है. अखिलेश यादव ने ट्विटर पर कहा है, “UPTET 2021 की परीक्षा का पेपर लीक होने की वजह से रद्द होना बीसों लाख बेरोज़गार अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ है. भाजपा सरकार में पेपर लीक होना, परीक्षा व परिणाम रद्द होना आम बात है. उप्र शैक्षिक भ्रष्टाचार के चरम पर है. बेरोजगारों का इंकलाब होगा- बाइस में बदलाव होगा!”

प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा

प्रियंका गांधी ने ट्वीट के जरिए कहा, “भर्तियों में भ्रष्टाचार, पेपर आउट ही भाजपा सरकार की पहचान बन चुका है. आज यूपी टेट का पेपर आउट होने की वजह से लाखों युवाओं की मेहनत पर पानी फिर गया. हर बार पेपर आउट होने पर योगी आदित्यनाथ जी की सरकार ने भ्रष्टाचार में शामिल बड़ी मछलियों को बचाया है, इसलिए भ्रष्टाचार चरम पर है.”

शनिवार रात हो गया था लीक पेपर

शिक्षक पात्रता परीक्षा शुरू होने से पहले शनिवार रात वॉट्सऐप ग्रुप में पेपर वायरल हो रहा था. पेपर के वायरल होने की शुरुआत मथुरा से हुई थी. 14 पेज के इस पेपर में 150 प्रश्न थे और उनके सही विकल्प के ऊपर चिह्न लगा हुआ था. जब यूपी एसटीएफ के पास वायरल पेपर पहुंचा, तो नोएडा और मेरठ एसटीएफ ने यह पेपर अपने जिला मजिस्ट्रेट व लखनऊ मुख्यालय को भेजा, ताकि परीक्षा शुरू होते ही उसका मिलान किया जा सके. कुछ ही देर में यह पता चल गया कि वायरल हुआ पेपर असली है.

मामले में पकड़े गए बिहार के

UPTET पेपर लीक होने मामले पर ADG लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि, “जो लोग पकड़े गए हैं उसमें कुछ लोग बिहार से हैं. जांच जारी है. परीक्षार्थियों से परिवहन में कोई पैसे नहीं लिए जाएंगे. बच्चे एडमिट कार्ड दिखाकर परीक्षा केंद्र तक पहुंच सकते हैं उनसे पैसे नहीं लिए जाएंगे.” साथ ही यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है प्रदेश सरकार UPTET के अभ्यर्थियों के साथ खड़ी है.

पेपर लीक होने के बाद शासन ने फैसला लिया कि इन परीक्षाओं को रद्द किया जाए. साथ ही अगले 1 महीने में परीक्षा दोबारा कराई जाएगी. दोबारा कराए जाने वाली परीक्षा पर पूरा खर्च सरकार उठाएगी.