क्या विराट कोहली को IPL 2019 में वर्ल्ड कप की तैयारियों के लिए आराम की जरूरत है?

Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

आईपीएल 2019 में लगातार छह हार से रॉयल चैलेंज बंगलौर के नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया. दिल्ली कैपिटल से हार कर लगातार छह मैच हारने वाली रॉयल चैलेंज बंगलौर IPL इतिहास की ऐसी दूसरी टीम हो गई है. इससे पहले ये रिकॉर्ड उसी दिल्ली के नाम था जिससे इस बार खुद रॉयल चैलेंज हारी है. साल 2013 में दिल्ली डेयर डेविल्स की भी ऐसी ही दुर्गति हुई थी और उस समय उनके लिये भी जीत शब्द नामुमकिन में बदल गया था.

अब इस बार रॉयल चैलेंज की आईपीएल में वापसी भी असंभव सी दिख रही है. लेकिन बड़ा सवाल उस किरदार का है जो कि वर्ल्डकप का असली सूत्रधार है. टीम के इस खराब परफॉर्मेंस से विराट कोहली की कप्तानी पर सवाल उठ रहे हैं. दिल्ली कैपिटल के खिलाफ विराट कोहली ने 18 ओवर तक बल्लेबाजी की और 33 गेंदों में केवल 41 रन बनाए. जबकि उनकी पूरी टीम केवल 149 रन ही बना सकी. इसी तरह केकेआर (KKR) के खिलाफ विराट की टीम ने 205 का टारगेट दिया लेकिन विराट की टीम के गेंदबाज 20 ओवरों में 205 रन भी बचा नही सके.

सवाल उठाने लगा है कि क्या टीम इंडिया के पूर्व कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी की गैरमौजूदगी में विराट कोहली बिना गोली की बंदूक या बिना धार की तलवार हैं ? क्या विराट कोहली पर आईपीएल की कप्तानी का दबाव दिखने लगा है? क्या आईपीएल में उनका खेलना 31 मई से शुरू हो कर 14 जुलाई तक चलने वाले वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के प्रदर्शन पर असर डाल सकता है?

एक तरफ विराट कोहली की किस्मत रूठी हुई है तो दूसरी तरफ उनका खुद के कप्तानी के फैसलों के भी वक्त वाइड करार दे रहा है. विराट ने आईपीएल में रायल बैंगलोर के लिए 102 मैचों में अबतक कप्तानी कर केवल 44 मैचों में जीत दर्ज की है जबकि 53 मैचों में उन्हें हार नसीब हुई है. विराट की जीत का प्रतिशत पचास प्रतिशत से कम यानी 45.45 है.  

मैदान में हार और सोशल मीडिया की पिच पर ट्रोलिंग के बाउंस झेल रहे विराट के लिए जरूरी है कि कुछ वक्त के लिए वो आराम का फैसला करें. आईपीएल सीजन से पहले खुद विराट कोहली ने तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को वर्ल्ड कप के लिए आईपीएल के कुछ मैच कुर्बान करने की सलाह दी थी. अब यही सलाह उनको भी क्रिकेट के जानकार दे रहे हैं. विराट की कप्तानी पर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने भी सुझाव दिया है.

सीजन की शुरुआत ही हार से हुई और हार का सिलसिला जारी है. मैदान पर आखिरी तक टिके रहने के बावजूद अगर विराट टीम को जीत नहीं दिला पा रहे हैं तो उन्हें आईपीएल की चकाचौंध से दूरियां बनाते हुए कुछ वक्त वर्ल्ड कप की तैयारियों के मद्देनजर खुद को मेडिटेशन के रूप में देना चाहिए.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति