दुनिया के सबसे बड़े विमान स्ट्रैटोलॉन्च ने जब भरी उड़ान, दुनिया रह गई हैरान

image tweeted by@stratolaunch
Share on facebook
Share on twitter
Share on google
Share on pinterest
Share on telegram
Share on whatsapp
Share on email

world-largest-plane-flies-designed-to-release-rockets-

क्या आपने दुनिया के ऐसे विमान के बारे में कभी कॉमिक्स की किताबों में पढ़ा था जो कि धरती से रॉकेट उपग्रहों को अंतरिक्ष में पहुंचा दे और जिसके पंखों का फैलाव किसी फुटबॉल के मैदान के बराबर हो? शायद नहीं. लेकिन शानदार वैज्ञानिकों ने कल्पना को ऐतिहासिक उड़ान देते हुए इसे साकार तब कर डाला जब कैलिफोर्निया में दुनिया के सबसे बड़े विमान की सफलतापूर्वक परीक्षण उड़ान हुई.

दुनिया के सबसे बड़े विमान ने शनिवार को मोजावे रेगिस्तान के ऊपर 304 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तकरीबन ढाई घंटे तक उड़ान भरी. स्ट्रैटोलांच ने ट्वीट किया और लिखा- आज स्ट्रैटोलांच विमान ने मोजेव रेगिस्तान पर 2.5 घंटे के लिए उड़ान भरी, जो 189 मील प्रति घंटे की रफ्तार से टॉप पर पहुंच गया.

इस विमान की खासियत ऐसी कि जो सुने वो दांतो तले उंगली दबा ले कि भला ऐसा भी कोई प्लने हो सकता है क्या? इस स्ट्रैटोलॉन्च विमान में छह बोइंग 747 इंजन लगे हुए हैं. इस विमान में एक वक्त में तीन रॉकेट अटैच किए जा सकते हैं. इस विमान से 35 हजार फीट की ऊंचाई पर रॉकेट लॉन्च किए जा सकते हैं. दरअसल इसका निर्माण ही अंतरिक्ष में रॉकेट ले जाने और उसे वहां छोड़ने के लिए किया गया है. यह रॉकेट उपग्रहों को अंतरिक्ष में उनकी कक्षा तक पहुंचाने में मदद करेगा.

मौजूदा समय में टेकऑफ रॉकेट की मदद से उपग्रहों को कक्षा में भेजा जाता है. इसके मुकाबले उपग्रहों को कक्षा तक पहुंचाने में यह प्लेन सस्ता विकल्प होगा जिससे ईंधन का खर्च और वक्त भी बचेगा.

https://www.youtube.com/watch?v=vwKwSKGHfw8
Courtesy – @Stratolaunch

इस महाविमान का निर्माण स्केल्ड कम्पोजिट्स नाम की एक इंजीनियरिंग कंपनी ने किया है.

स्ट्रैटोलॉन्च को 2011 में माइक्रोसॉफ्ट के दिवंगत सह संस्थापक पॉल जी एलेन ने तैयार किया था. लेकिन 2018 में उनकी मृत्यु हो गई थी. स्ट्रैटोलॉन्च कंपनी की योजना खुद के रॉकेट भी तैयार करने की है.

ट्रेंडिंग

काम की खबरें

देश

विदेश

मनोरंजन

राजनीति